Wednesday, July 24, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut‘सरकारी योजनाओं के साथ सौतेले व्यवहार पर नपेंगे अधिकारी’

‘सरकारी योजनाओं के साथ सौतेले व्यवहार पर नपेंगे अधिकारी’

- Advertisement -
  • पीडब्ल्यूडी के प्रमुख सचिव मेरठ पहुंचे, अधिकारियों की बैठक में अपनाया कड़ा रुख
  • लोक निर्माण विभाग की कई सड़कों का लिया जायजा
  • परियोजनाओं के निरीक्षण के दौरान अटकी रहीं अधिकारियों की सांसें

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: पीडब्ल्यूडी के प्रमुख सचिव नरेन्द्र भूषण मंगलवार को अपने दो दिवसीय दौरे पर मेरठ पहुंचे। इस दौरान उन्होंने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के अलावा जनपद के अन्य आला अफसरों की भी बैठक ली। लोक निर्माण विभाग की विभिन्न परियोजनाओं के साथ साथ अन्य परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया। जुर्रानपुर फाटक मामले में भी मौके पर जाकर संज्ञान लिया। बुधवार को भी प्रमुख सचिव मेरठ में रहेंगे।

नरेन्द्र भूषण लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव होने के साथ साथ मेरठ जनपद के नोडल अफसर भी हैं। हाल ही में मुख्यमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम को मद्देनजर रखते हुए भी प्रमुख सचिव का दौरा महत्तवपूर्ण माना जा रहा है। प्रमुख सचिव सुबह लगभग पौने दस बजे सबसे पहले सर्किट हाउस पहुंचे और यहां विभागीय अधिकारियों की बैठक की। बैठक में पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर राजीव कुमार सहित कई विभागीय अधिकारी मौजदू थे।

बैठक में प्रमुख सचिव ने सरकारी योजनाओं को लेकर कड़ा रुख अपनाया। उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि यदि कोई भी अधिकारी सरकारी योजनाओं के साथ सौतेला व्यवहार करेगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। प्रमुख सचिव ने कहा कि अधिकारी ये समझ लें कि यदि सरकारी योजना में कोई विलम्ब हुआ तो संबधित अधिकारी की खैर नहीं।

10 21

प्रमुख सचिव नरेन्द्र भूषण ने यह भी कहा कि अगर किसी योजना में किसी भी स्तर पर भूलवश कोई कमी रह जाती है तो उसकी तो माफी है, लेकिन किसी योजना को अमली जामा पहनाने के लिए अगर अनावश्यक विलम्ब होगा तो उसके किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बैठक में उत्तर प्रदेश सेतू निगम के गाजियाबाद में किसी पुल को लेकर चल रहे प्रकरण में भी प्रमुख सचिव ने कड़ा रुख अपनाया। उन्होंने अधिकारियों को इस बात के लिए भी चेताया कि जब किसी भी योजना का ब्लू प्रिंट तैयार किया जाता है तो उसकी हर स्तर पर बारीकी से जांच कर लें तब प्रस्ताव बनाकर भेजें।

प्रमुख सचिव ने यह भी साफ कर दिया कि यदि बाद में संबधित परियोजना में कोई खामी निकाली जाएगी तो यह किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बैठक में मुख्य अभियंता राजीव कुमार के अलावा इं. एसके सारस्वत, इं. डीपी सिंह, इं. महेश बालियान व इं. अतुल कुमार सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

हस्तिनापुर पर अटकी रहीं सांसे, आज कर सकते हैं निरीक्षण

लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव नरेन्द्र भूषण बुधवार को हस्तिनापुर स्थित चेतावाला पुल का निरीक्षण कर सकते हैं। हालांकि अभी उनका वहां जाने का कोई कार्यक्रम फाइनल नहीं है, लेकिन पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के अनुसार प्रमुख सचिव बुधवार को हस्तिनापुर का दौरा कर सकते हैं। उधर, मंगलवार को दिन भर पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों में हस्तिनापुर मामले को लेकर हड़कम्प मचा रहा।

ग्रामीण क्षेत्रों में भी घूमे प्रमुख सचिव

प्रमुख सचिव मंगलवार को सर्किट हाउस में विभागीय बैठक लेने के बाद खरखौदा पहुंचे और यहां प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण किया। प्रमुख सचिव ने यहां तमाम व्यवस्थाओं को परखा और कई दिशा निर्देश दिए। इसके बाद कैली स्थिति प्राइमरी स्कूल गए और यहां की तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

प्रमुख सचिव मेरठ जनपद के नोडल अधिकारी हैं और मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरे को मद्देनजर रखते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में भी मंगलवार को उनकी सक्रियता दिखी। सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री मेरठ के अलावा हापुड़ का दौरा भी कर सकते हैं। जिसके चलते प्रमुख सचिव ने हापुड़ रोड पर विभिन्न जगहों पर निरीक्षण किया। प्रमुख सचिव पुलिस ट्रेनिंग स्कूल भी गए और क्वार्टरों का निरीक्षण किया।

प्रमुख सचिव ने किया आधारशिला का भ्रमण

पीडब्ल्यूडी विभाग के प्रमुख सचिव और मेरठ जनपद के नोडल अधिकारी नरेंद्र भूषण ने मंगलवार को मोहिउद्दीनपुर स्थित आधारशिला का भ्रमण किया गया। उन्होंने प्रत्येक मॉडल को बड़ी गहराई से देखा गया, और बच्चों से कई सवाल पूछे। बच्चों की ओर से सभी मॉडल का प्रस्तुतिकरण किया गया, जिसे देखकर प्रमुख सचिव ने बच्चों की प्रशंसा की। प्रमुख सचिव ने आधारशिला को सभी गांव में निर्मित करने के लिए निर्देशित किया।

पीडब्ल्यूडी की सड़कों का भी किया निरीक्षण

प्रमुख सचिव नरेन्द्र भूषण ने मंगलवार को पीडब्ल्यूडी की विभिन्न परियोजनाओं का भी स्थलीय निरीक्षण किया। प्रमुख सचिव ने मंगलवार को रिठानी माइनर पर जुरर्नापुर रेलवे फाटक का भी निरीक्षण किया और कहा कि वो इस योजना के प्रस्ताव को सरकार के समक्ष रखेंगे। इसके बाद वो खरखौदा कौल रोड का निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने खरखौदा-मोहिउद्दीनपुर रोड भी देखा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments