Saturday, June 12, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliउफ! आसमानी आग से 37 डिग्री पर पहुंचा पारा

उफ! आसमानी आग से 37 डिग्री पर पहुंचा पारा

- Advertisement -
0
  • गर्म लू के थपेडों से सड़कों पर चलना दुश्वार

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: आमानी आग से दिन प्रतिदिन पारा चढ़ता जा रहा है। सोमवार को पारा चढ़कर 37 डिग्री पहुंच गया। भीषण गर्मी में बिजली की आंख मिचौली से नागरिकों में रोष है। लू के थपेड़ों ने आमजन के पैरो में बेडिया डाल दी है। दोपहर में भीषण गर्मी में बाजारों में जाने से लोग कतरा रहे हैं।

जून माह के प्रथम सप्ताह में सूरज ने अग्नि वर्षा कर तापमान को बढ़ा दिया है। चिलचिलाती धूप में चल रही हवाओं ने लू के थपेड़ों को तेज कर दिया है। आसमानी आग से बचने के लिए लोगों को मुहं को कपड़े से ढांप कर चलना पड़ रहा है। दुपहिया वाहनों पर हॉफ स्लीव कपडे पहनने वाले ग्लब्जस का प्रयोग कर रहे हैं।

पैदल चलने वाली युवतियों को भी अपनी त्वचा को झुलसने से बचाने के लिए मुहं को दुपट्टे से ढांपना पड़ा रहा है। भीषण गर्मी के साथ ही बिजली के नखरे भी बढ़ने शुरु हो गए हैं। शहर में अघोषित बिजली कटौती होने के कारण पेजजल का भी संकट गहरा गया है। बिजली की अघोषित कटौती से नागरिकों में भारी रोष व्याप्त है। ऐसे में चिकित्सकों भी लोगों को धूप में सर ढककर निकलने तथा पानी का अधिक मात्रा में सेवन करने की सलाह दे रहे है। खरीदारी के लिए लोग सुबह सवेरे और शाम ही बाजारों में पहुंच कर खरीदारी कर रहे हैं।

विद्युत ट्रांसफार्मर में लगी आग, छह घंटे आपूर्ति ठप

भीषण गर्मी में शहर के मिल रोड स्थित विद्युत ट्रांसफार्मर में करीब 11: 30 बजे आग लग गई। विद्युत ट्रांसफार्मर से आग के शोले उठते देखा तो आसपास के लोगों ने बिजलीघर में सूचना देकर रेत, मिट्टी और पानी डाल कर किसी तरह से आग पर काबू पाया। विद्युत ट्रांसफार्मर में आग लगने के बाद शहर के अग्रसेन पार्क, मिल रोड, तालाब रोड आदि की बिजली सप्लाई बाधित रही। जिसके कारण नागरिकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। विद्युत विभाग के कर्मचारियों ने ट्रांसफार्मर की मरम्मत करने के बाद शाम 5:30 बिजली आपूर्ति सुचारू हो पाई। बिजली न होने के कारण नागरिकों के सामने पेयजल संकट भी पैदा हो गया था।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments