Monday, June 14, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliजिले के तीन अस्पतालों में लग रहे आक्सीजन प्लांट: राणा

जिले के तीन अस्पतालों में लग रहे आक्सीजन प्लांट: राणा

- Advertisement -
0
  • जिला संयुक्त चिकित्साल के अलावा दो निजी अस्पाल शामिल

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: कोविड-19 महामारी के बढ़ते संक्रमण के दृष्टिगत कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा की अध्यक्षता में सांसद प्रदीप चौधरी और सदर विधायक तेजेंद्र निर्वाल तथा जिलाधिकारी उपस्थिति में कलक्ट्रेट सभागार में प्रशासनिक अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें पत्रकारों के सुझाव भी आमंत्रित किए गए।

मंगलवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक को संबोधित करते हुए कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि जनपद के एल-2 हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों के लिए निरंतर आक्सीजन मंगाई जा रही है। जनपद में आक्सीजन की समस्या न हो इसके लिए तीन स्थानों पर आक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी चल रही है।

जिनमें जिला संयुक्त अस्पाल में 30 से 35 बेड पर आक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए प्लांट लगाया जा रहा है, जिसमें शुगर मिल शामली द्वारा सहयोग किया जाएगा। जिससे 30 से 35 बेडों पर पाइपलाइन के माध्यम से आक्सीजन आपूर्ति सुचारू हो सकेगी।

इसके अलावा गंगा अमृत मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल शामली और दिव्या पैरामेडिकल कॉलेज जलालाबाद में 15-15 बेड आक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए प्लांट लगाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि गंगा अमृत हॉस्पिटल में बुधवार से आक्सीजन प्लांट काम शुरू हो जाएगा। ग्लोबल शांति केयर हॉस्टिपल के एमडी से भी बात की जा रही है।

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि जनपद के 50 शुगर मिलों के द्वारा आक्सीजन प्लांट में लिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस दिशा में आईआईए के पदाधिकारी भी सकारात्मक कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि यदि किसी प्राइवेट अस्पाल में भर्ती कोविड-19 ग्रस्त मरीज के उपचार में रेमडेसीवर इंजेक्शन की आवश्यकता है तो तीमारदार सीमएओ को अपनी डिमांड भेजे उनको इंजेक्शन उपलब्ध कराया जाएगा।

उन्होंने कहा कि शीघ्र 400 प्लस आक्सीमीटर मंगाए जा रहे हैं, जिन्हें निगरानी समितियों, ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे करने वाली टीमों को दिए जाएंगे ताकि गांव एवं मोहल्लों में ही आक्सीजन की मात्रा की जांच की जा सके। जिलधिकारी जसजीत कौर, पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव, एडीएम अरविंद कुमार सिंह, सीडीओ शंभूनाथ तिवारी, भाजपा जिलाध्यक्ष सतेंद्र तोमर, सीएमओ डा. संजय अग्रवाल समेत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

बुखार हो तो 24 घंटे के भीतर कराए जांच

कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि यदि किसी को बुखार है तो 24 घंटे के भीतर जांच कराकर लक्षण मिलने पर कोरोना किट प्राप्त कर उपचार शुरू करें। कुछ लोगों में सरकारी दवाई के प्रति भ्रांतियां व्याप्त है, उन्होंने कहा कि मैंने स्वयं पॉजिटिव होने के बाद कोरोना किट की दवाईयों से उपचार शुरू किया है। जिसके कारण कोरोना से शीघ्र रिकवर हो पाया हूं।

कैबिनेट मंत्री ने दिए निर्देश

कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि कोविड एल-2 अस्पताल परिसर में एक जनसपंर्क अधिकारी की नियुक्ति करें जो परिजनों को उनके बीमार मरीज के उपचार एवं स्वास्थ्य में प्रगति रिपोर्ट के बारे में जानकारी देकर संतुष्ट कर सके। आक्सीजन की उपलब्धता एवं स्टॉक आदि की जानकारी के लिए एक अधिकृत व्यक्ति को नियुक्त किया जाए जो मीडिया, जनप्रतिनियों को सही जानकारी उपलब्ध करा सके।

प्राण रक्षक उपकरण 24 घंटे में होंगे उपलब्ध

कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने कहा कि कोविड एल-2 हॉस्पिटल में फ्लोमीटर, आक्सीमीटर आदि जिन छोटे किंतु प्राण रक्षक उपकरणों की आवश्यकता है उनकी डिमांड बनाकर भेजे 24 घंटे में उपलब्ध कराए जाएंगे।

पूरे जनपद के सैनेटाइजेशन की कार्ययोजना

कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा ने बताया कि पूरे जनपद में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए अधिकारी, कर्मचारी 20-20 घंटे काम कर रहे हैं। बुधवार को जनपद में सैनेटाइजेशन कराने के लिए कार्य योजना तैयार की जाएगी। जिसमें जनपद के तीनों शुगर मिलों के अधिकारी, जनपद की सभी नगर निकायों के अधिशासी अधिकारी प्रतिभाग करेंगे।

निजी अस्पाल में भर्ती मरीजों को भी मिले आक्सीजन: सांसद

कैराना लोकसभा सांसद प्रदीप चौधरी ने कहा कि निजी अस्पतालों में भर्ती ग्रामीण क्षेत्रों के कोरोना संक्रमित मरीजों को उनकी संबंधित सीएचसी अथवा पीएचसी से आक्सीजन की आपूर्ति कराई जाए। उन्होंने कहा कि आक्सीजन, फ्लोमीटर एवं आक्सीमीटर की उपलब्धता को पारदर्शी बनाया जाए। मरीजों के उपचार से सम्बंधित एक चार्ट तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि यदि किसी मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं और लक्षण है तो उसे भी तत्काल उपचार दिया जाए। उन्होंने कहा कि जागरुकता के आभाव में कम लोग वैक्सीनेशन करा रहे हैं उन्होंने नागरिकों से कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीनेशन कराने का आह्वान किया।

चिकित्सकों के व्यवहार से शीघ्र होगी रिकवरी: विधायक

शामली सदर विधायक तेजेंद्र निर्वाल ने कहा कि गत दिनों उन्होंने कोविड एल-2 हॉस्पिटल का निरीक्षण किया था, जहां पर मरीजों एवं तीमारदारों के द्वारा चिकित्सकों के व्यवहार की शिकायत की गई थी। उन्होंने कहा कि यदि चिकित्सक मरीजों के साथ मैत्री व्यवहार कर दवाओं के साथ उनकी मनोदशा को देखते हुए सकारात्मक बाते करें तो सीमित संसाधनों में भी मरीज शीघ्र रिकवर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि एल-2 हॉस्पिटल में आक्सीजन, प्लोमीट एवं आक्सीमीटर की उपलब्धता का रिकार्ड मैनेटेन कराया जाए।


What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments