Friday, February 3, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerut13 थानों की पुलिस ने 400 अपराधियों का किया सत्यापन

13 थानों की पुलिस ने 400 अपराधियों का किया सत्यापन

- Advertisement -
  • छह इंस्पेक्टर, 32 दारोगाओं समेत भारी पुलिस बल रहा शामिल
  • लिसाड़ी गेट क्षेत्र में मचा हड़कंप, छह अपराधी पकड़े

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: विधानसभा चुनाव खत्म होते ही विभाग के लटके हुए काम फिर से तेजी के साथ शुरू हो गए है। सरकार जहां एक तरफ 50 साल से अधिक पुलिसकर्मियों को रिटायर कर रही तो वहीं दूसरी ओर मेरठ पुलिस एक्शन में आ गई है।

मेरठ पुलिस ने 32 टीमें बनाकर लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र में बदमाशों का सत्यापन शुरू कर दिया। पुलिस टीम ने अभियान के दौरान छह अपराधियों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने इस संबंध में सीओ कोतवाली और थाना प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि जो भी अपराधी हैं उनका हर हाल में सत्यापन किया जाए।

लिसाड़ी गेट बदनाम है अपराध के लिए

लिसाड़ी गेट क्षेत्र अपराधियों के लिए पूरी तरह बदनाम है। कहा जा सकता है कि इस क्षेत्र में अपराधियों का राज है। यह मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र है, इसकी आबादी पांच लाख है। यहां वाहन चोर, वाहन लुटेरे, पर्स लुटेरे, चेन स्नेचर रहते हैं। यही नहीं इस क्षेत्र के तांत्रिक दूसरे राज्यों में लूट व धोखाधड़ी करते हैं। इसी के साथ लिसाड़ी गेट क्षेत्र में आए दिन दूसरे राज्यों की पुलिस की छापेमारी अभियान भी चलता रहता है।

पुलिस पूछ रही सवाल, तुम्हारा शौहर कहां है?

सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया के नेतृत्व में इंस्पेक्टर लिसाड़ीगेट उत्तम सिंह राठौर, महिला इंस्पेक्टर प्रतिभा सिंह, महिला थाने की एसओ मोनिका जिंदल अलग-अलग टीमों के साथ समर गार्डन, जाकिर कालोनी, इस्लामााबाद कॉलोनी में पहुंचे। जहां महिलाओं से पुलिस ने पूछा की तुम्हारे शौहर पर चेन लूट के मुकदमे हैं, वह जेल जा चुका है। अब बताइए वह कहां है। सबसे बड़े लुटेरे गफरान, दानिश, भूरा, चांद, फिरोज के खिलाफ पूर्व में चौराहों पर पोस्टर भी लगाए गए थे।

पुलिस टीमों ने घर घर अभियान किया शुरू

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने छह इंस्पेक्टर, 32 उप निरीक्षक, मुख्य आरक्षी व आरक्षी 373, महिला आरक्षी 65 कुल 480 पुलिसकर्मियों की 32 टीमें बनाकर जेल से छूटकर आए और वांछित चल रहे बदमाशों के बारे में जानकारी के लिए बदमाशों के घर-घर भेज कर सत्यापन कराना शुरू कर दिया है। जिसके चलते पुलिस ने करीब 400 अपराधियों का सत्यापन किया। चुनाव होने के बाद पुलिस सरकार बनने के बाद एक्शन मोड में आ गई है और अब पहले से भी ज्यादा बदमाशों की कमर तोड़ने का काम कर रही है। दिन निकलते ही बदमाशों के घर पर पुलिस की टीमों ने घर-घर अभियान शुरू कर दिया।

योगी सरकार बनते ही शुरू हुआ था अभियान

2017 में जब प्रदेश में योगी सरकार बनी थी। तो वेस्ट यूपी में मेरठ का लिसाड़ी गेट क्षेत्र में बदमाशों की घेराबंदी के लिए तत्कालीन एसएसपी जे. रविंदर गौड ने आरएएफ लगाकर अभियान चलाया था। एक दिन में ही 50 अवैध हथियार घर- घर से पुलिस ने बरामद किए। उस समय 15 दिन तक पुलिस ने सत्यापन शुरू किया था।

अपराधियों को बक्शा नहीं जाएगा

एसएसपी प्रभाकर चौधरी का कहना है कि अपराधियों के सत्यापन के लिए पुलिस की टीम गठित की गई हैं। जिन अपराधियों ने पूर्व में अपराध किया है। उन सभी का पुलिस सत्यापन कर रही है। अपराध में शामिल लोगों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

ये पकड़े गए अपराधी

  1. वसीम पुत्र अनवर निवासी परवेज की डेयरी के पीछे गली नंबर चार मजीद नगर।
  2. अब्दुल वहाब पुत्र इस्लाम निवासी 1625 गली नंबर 22 जाकिर कालोनी।
  3. शाहिद उर्फ कालिया पुत्र गफ्फार निवासी गली नंबर 16 अहमद नगर।
  4. शानू उर्फ शाहनवाज पुत्र सरफराज निवासी गली नंबर 5 रशीद नगर।
  5. इरशाद पुत्र हमीद निवासी मदीना कॉलोनी।
  6. समीर पुत्र शकील निवासी खुशहाल नगर कॉलोनी।
What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

1 COMMENT

Comments are closed.

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments