Sunday, August 7, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttarakhand NewsHaridwarरिजवी उर्फ जितेन्द्र त्यागी हरिद्वार में गिरफ्तार, और यति नरसिंहानंद के खिलाफ...

रिजवी उर्फ जितेन्द्र त्यागी हरिद्वार में गिरफ्तार, और यति नरसिंहानंद के खिलाफ मुकदमा दर्ज

- Advertisement -
  • वसीम रिजवी के साथ स्वामी यति नरसिंघानन्द सहित अन्य संत भी थे साथ
  • वसीम रिजवी को गिरफ्तार कर हरिद्वार कोतवाली लाया गया है

जनवाणी ब्यूरो  |

हरिद्वार: हरिद्वार धर्मसंसद में हेट स्पीच मामले में हरिद्वार पुलिस ने वसीम रिजवी उर्फ़ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी को किया गिरफ्तार। हरिद्वार उत्तरप्रदेश बॉर्डर नारसन के पास हरिद्वार आते हुए किया गिरफ्तार।

वसीम रिजवी के साथ स्वामी यति नरसिंघानन्द सहित अन्य संत भी थे साथ। मगर फिलहाल गिरफ्तारी वसीम रिजवी की ही कि गई है। 11 दिसम्बर को हरिद्वार में हुए धर्म संसद में एक सम्प्रदाय विशेष के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाते हुए हरिद्वार ज्वालापुर निवासी गुलबहार नामक व्यक्ति ने हरिद्वार कोतवाली में धारा 153 ए के तहत वसीम रिजवी व अन्य लोगो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। वसीम रिजवी को गिरफ्तार कर हरिद्वार कोतवाली लाया गया है।

हरिद्वार की लॉ की तृतीय वर्ष की छात्रा ने दर्ज कराया मुकदमा

महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर नाराजगी

यति नरसिंहानंद पर धर्म संसद मामले में पहले भी दर्ज है मुकदमा

सोशल मीडिया पर महिलाओं के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में अब लॉ की एक छात्रा ने अब महंत स्वामी यति नरसिंहानंद मुकदमा दर्ज कराया है। मामला दर्ज हुआ है।

बताया जाता है कि रुचिका निवासी निरंजनी अखाड़ा मायापुर लॉ की तृतीय वर्ष की छात्रा है। रुचिका ने बताया कि फेसबुक के माध्यम से उन्हें जानकारी लगी कि एक संत धर्म विशेष की महिलाओं पर अमर्यादित टिप्पणी कर रहे हैं।

रुचिका ने इसे पूरी तरह से गलत और असंवैधानिक बताया। उनका कहना था कि देश का कानून किसी भी वर्ग या महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्प्णी या अभद्र भाषा के प्रयोग की इजाजत नहीं देता है। लिहाजा उन्होंने अपना फर्ज समझते हुए नगर कोतवाली में तहरीर दी।

नगर कोतवाल राकेंद्र कठैत के मुताबिक रुचिका ने मायापुर पुलिस को शिकायत दर्ज करार्ई है। जिसमें जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर व गाजियाबाद के देवी मंदिर के महंत स्वामी यति नरसिंहानंद द्वारा सोशल मीडिया पर दूसरे धर्म की महिलाओं के प्रति आपत्तिजनक और अपमान जनक टिप्पणियां व महिलाओं के प्रति अमर्यादित टिप्पणियां की गईं हैं।

 

मामले में धारा 509 के अनुसार किसी स्त्री की लज्जा का अनादर करने के आशय से कहे गए शब्दों व धारा 295 ए के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। बता दें कि हरिद्वार के धर्म संसद में हेट स्पीच के मामले में भी गाजियाबाद के डासना स्थित देवी मंदिर के महंत स्वामी यति नरसिंहानंद के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो चुका है।

12 नवंबर को प्रेस क्लब हरिद्वार में वसीम रिजवी पूर्व चेयरमैन यूपी शिया वक्फ बोर्ड ने गैर मर्यादित भाषा उपयोग करने के साथ ही विवादित पुस्तक का विमोचन किया। वहीं स्वामी यति नरसिंहानंद ने मंच से भड़काऊ और आपत्तिजनक भाषण दिए।

तहरीर पर पुलिस ने वसीम रिजवी को नामजद आरोपी बनाते हुए अज्ञात आयोजकों के खिलाफ नगर कोतवाली में केस दर्ज किया था। नगर कोतवाली पुलिस ने इस मामले में चार्जशीट लगा दी है।

खड़खडी स्थित वेद निकेतन में आयोजित हुई धर्मसंसद में अमर्यादित शब्दों का इस्तेमाल करने की वीडियो वायरल होने के बाद वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी के खिलाफ 23 दिसंबर को मुकदमा दर्ज किया गया था।

जिसके बाद विवेचक ने इन मुकदमे में संत धर्मदास, साध्वी अन्नपूर्णा भारती, स्वामी यति नरसिंहानंद व सागर सिंधु महाराज के नाम बढ़ाए थे। मामले की जांच एसआईटी कर रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments