Sunday, May 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutरविवार को सुबह सात बजे से होगी मतगणना

रविवार को सुबह सात बजे से होगी मतगणना

- Advertisement -
0
  • कर्मचारियों को शुक्रवार को दिया गया प्रशिक्षण, मतगणना स्थल पर तैयारी पूरी, कोविड को लेकर सख्ती
  • एक ही स्थान पर होगी जिला पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान व अन्य पदों के मतों की गणना

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: जैसे-जैसे मतगणना का समय नजदीक आ रहा है प्रत्याशियों की धड़कनें तेज होती जा रही हैं। अब मतगणना को मात्र एक दिन शेष बचा है। कल सुबह सात बजे से मतगणना शुरू हो जाएगी। सभी 12 ब्लॉकों में बने मतगणना केन्द्रों पर ही मतगणना होगी। जैसे-जैसे नतीजे आते रहेंगे वैसे-वैसे नतीजों की घोषणा होती रहेगी। सभी को अंत में वहीं पर प्रमाण पत्र वितरित किये जाएंगे। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। कर्मचारियों का प्रशिक्षण समाप्त हो चुका है।

बता दें कि यहां मेरठ में तीसरे चरण में 26 अप्रैल को मतदान संपन्न हुआ। प्रधान के 479 पदों, जिला पंचायत सदस्य के 33 वार्डों समेत क्षेत्र पंचायत सदस्य और ग्राम पंचायत सदस्य पदों के लिये मतदान हुआ। प्रधान पदों पर 3215, ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिये 2555 प्रत्याशी मैदान में हैं और 3270 निर्विरोध चुने गये हैं। क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के लिये 3234 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं और 46 निर्विरोध चुने गये हैं।

जिला पंचायत सदस्य पद के लिये 451 प्रत्याशी मैदान में हैं। इन सभी पदों पर 26 को मतदान हुआ। निर्वाचन कार्यालय की ओर से मतगणना को लेकर भी तैयारी कर ली गई है। मतगणना के बात जीते हुए प्रत्याशियों को ब्लॉकों में ही प्रमाण पत्र वितरित किये जाएंगे।

सभी पदों की मतगणना भी एक साथ होगी। एक ही पेटी में सभी के मत पड़ेंगे। जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य और ग्राम प्रधान के पदों के मतों की गणना एक साथ ही होगी। इनके नतीजे भी जैसे जैसे सामने आते रहेंगे वैसे वैसे घोषित किये जाते रहेंगे।

मतगणना को लेकर शुक्रवार को 1800 कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया गया जो मतों की गणना करेंगे। मतगणना दो मई सुबह सात बजे शुरू हो जाएगी और जब तक सभी का रिजल्ट नहीं आ जाता तब तक मतगणना होती रहेगी। सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षण दे दिया गया है।

कोरोना को लेकर विजय जुलूस पर रोक

जीत के बाद विजयी प्रत्याशी विजय जुलूस नहीं निकाल पाएंगे। कोविड के चलते प्रत्याशियों के सपनों पर पानी पर पानी फिर गया है। राज्य निर्वाचन आयोग ने विजय जुलूस पर रोक लगा दी है। यहीं नहीं एजेंट भी मतगणना स्थल से काफी दूर होंगे और यहां भीड़ एकत्र नहीं होने दी जाएगी। अगर कोई ऐसा करता पाया गया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में संबंधित थाना क्षेत्रों को आदेश जारी कर दिए गए हैं।

जीत के बाद विजय जुलूस निकालना हर प्रत्याशी का सपना होता है। वह जुलूस के दौरान वोट देने वालों का धन्यवाद व्यक्त करता है। कई प्रत्याशियों ने तो ढोल नगाड़ों वालों तक को बुक कर लिया था, लेकिन अब उनके सपनों पर पानी फिर गया है। विजय जुलूस तो एक ओर प्रत्याशी जीत की खुशी भी ठीक प्रकार से नहीं मना सकें गे। मतगणना केन्द्र या किसी अन्य जगह पर भीड़ एकत्र करने पर भी मनाही है।

अगर ऐसा किया गया तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में जिला प्रशासन की ओर से संबंधित थाना प्रभारियों को निर्देश जारी कर दिये गये हैं। अगर कोई प्रत्याशी ऐसा करता पाया गया तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

कोविड जांच कराने को लेकर मारामारी

बता दें कि राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से प्रत्याशियों के लिये मतगणना स्थल पर जाने के लिये कोविड रिपोर्ट जरूरी कर दी है। सभी प्रत्याशियों को कोविड रिपोर्ट करानी होगी जिन प्रत्याशियों की रिपोर्ट नेगेटिव होगी वही प्रत्याशी मतगणना स्थल पर जा सकेंगे। आदेश जारी होने के बाद से प्रत्याशी कोविड जांच कराने के लिये स्वास्थ्य केन्द्रों पर दौड़ पड़े। स्वास्थ्य केन्द्रों पर टेस्ट कराने के लिये मारामारी रही। प्रत्याशी सुबह ही जांच कराने के लिये पहुंच गये। सभी क्षेत्रों के स्वास्थ्य केन्द्रों का यही हाल रहा। जहां-जहां कोविड की जांच हो रही है वहां पर प्रत्याशी भी जांच कराने के लिए पहुंचे।

यहां होगी मतगणना, ब्लॉक मतगणना केन्द्र

  • जानी सीएलएम इंटर कालेज, जानी खुर्द
  • रोहटा श्री शालिगराम शर्मा स्मारक इंटर कालेज, रासना
  • मेरठ सोफिया हाईस्कूल गंगोल रोड कताई मिल, परतापुर
  • रजपुरा बीएमएम इंटर कालेज गढ़ रोड, मऊखास
  • खरखौदा जनता इंटर कालेज, खरखौदा
  • माछरा चौधरी प्रेमनाथ सिंह केवी इंटर कालेज, माछरा
  • मवाना कृषक इंटर कालेज, मवाना
  • हस्तिनापुर राजकीय इंटर कालेज, हस्तिनापुर
  • परीक्षितगढ़ परीक्षितगढ़ इंटर कालेज, परीक्षितगढ़
  • सरधना सेन्ट चार्ल्स इंटर कालेज, सरधना
  • सरूरपुर संजय गांधी स्नातकोत्तर महाविद्यालय, सरूरपुर

जानी खुर्द: दौराला सर श्रीराम इंटर कालेज, दौराला

कुसैड़ी में सोमवार को मतदान के दौरान हुई बूथ कैप्चरिंग में थाना पुलिस ने 23 आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया गया। प्रदेश में हुए पंचायत चुनाव में गत 26 अप्रैल को कुसैड़ी गांव में मतदान हुआ था।

कुसैड़ी में तैनात पीठासीन अधिकारी अजीत सिंह ने स्थानीय थाने पर रिपोर्ट लिखाई थी कि मतदान खत्म होने से कुछ समय पहले 30-40 लोग आये और एक पक्ष में मतदान कर पेटी में डालने लगे। पीठासीन अधिकारी अजीत सिंह की तहरीर पर थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया।

थाना पुलिस ने कुसैड़ी में हुई बूथ कैप्चरिंग में टिंकू पुत्र राजवीर, संदीप पुत्र मदन, नीरज पुत्र महावीर, खिम्मा पुत्र महेन्द्र, मनोज पुत्र राजवीर, अजीत पुत्र जितेन्द्र, प्रदीप पुत्र धीर सिंह, मोनू पुत्र नौरंग, रवि पुत्र रामगोपाल, हरेन्द्र पुत्र ओमप्रकाश, जगवीर पुत्र मिरुच, महेन्द्र पुत्र रतन, बबलू पुत्र ओमवीर, विनित पुत्र सतेन्द्र, सुनील पुत्र जवाहर, जोगेन्द्र पुत्र महेन्द्र, जीत पुत्र सुखराम, लीलू पुत्र नौरंग, सुनील पुत्र ईश्वर, बादल पुत्र गजेन्द्र, राजवीर पुत्र रामप्रसाद, सचिन पुत्र इंद्रपाल, महकार पुत्र नौरंग सहित 23 निवासीगण कुसैड़ी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। पुलिस की इस बड़ी कार्रवाई से गांव ही नहीं क्षेत्र में राजनीति जहां गर्मा गयी है। वहीं, गांव में दहशत का माहौल व्याप्त है।

बिना मास्क 23 लोग कोर्ट में पेश, अफरा-तफरी

कोरोना महामारी के कारण जहां देश में हाहाकार मचा हुआ है, वहीं जानी थाना पुलिस के सामने ही सरकार की गाइड लाइन की खुलकर धज्जियां उडाई गई। आलम ऐसा था कि एक ही जगह खड़े 23 लोगों में किसी ने भी मास्क नहीं लगा रखा था।

जानकारी होते ही मीडियाकर्मी न्यायालय में पहुंचे तो वहां मौजूद लोगों व पुलिसकर्मियों में अफरा-तफरी मच गई और आनन-फानन में सभी ने मास्क लगा लिए। गौरतलब है कि चार दिन पहले जिले में पंचायत चुनाव के लिए मतदान हुआ था।

मतदान को शांतिपूर्ण कराने के लिए जिला प्रशासन ने भारी पुलिस बल लगाया हुआ था। लेकिन भारी सुरक्षा के बीच जानी क्षेत्र के एक बूथ को कुछ दबंग लोगों ने बूथ को कैप्चर कर अपने पक्ष में वोट डलवाएं थे। हांलाकि बूथ कैप्चरिंग का मामला उजागर होने पर पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए दबंग लोगों को दौड़ा लिया था।

इसके बाद थाना पुलिस ने बूथ कैप्चर करने वाले 23 लोगों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। थाना जानी पुलिस शुक्रवार को पकड़े गए सभी 23 लोगों को न्यायालय में पेश करने पहुंची, लेकिन जैसे यह सभी लोग कचहरी में पहुंचे तो एक भी व्यक्ति ने मास्क नहीं लगा रखा था।

जिन्हें देख कचहरी में अफरा-तफरी का माहौल बन गया और मीडियाकर्मियों को सूचना दे दी। सूचना मिलते ही जैसे मीडियकर्मी कचहरी में पहुंचे तो वहां मौजूद पुलिसकर्मियों व लोगों में अफरा-तफरी मच गई और आनन-फानन में मास्क लगा लिए।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments