Wednesday, October 27, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअलाव को लेकर तहसील संवेदनहीन

अलाव को लेकर तहसील संवेदनहीन

- Advertisement -
  • नगर पालिका जलवा रही दर्जनभर मुख्य चौराहों पर अलाव
  • ठंड और शीत लहर के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त

जनवाणी ब्यूरो |

मेरठ/मवाना: मैदानी ओर पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही लगातार बर्फबारी के साथ बफीर्ली हवाओं के चलते दिन प्रतिदिन पारा लुढ़कता जा रहा है। हाड़ कंपाने वाली ठंड ने लोगों के सामने अलाव का सहारा बन गया है। कड़ाके की ठंड व शीत लहर के कारण लोग घरों में कैद होने के लिये विवश हैं।

ठंड बढ़ने के बावजूद नगर पंचायतों की ओर से अभी तक अलाव जलवाने की व्यवस्था नहीं की गई है तो दूसरी ओर नगर पालिका द्वारा नगर के विभिन्न मुख्य चौराहों पर अलाव की व्यवस्था कराए जाने के बाद तहसील प्रशासन नगर पालिका के अलाव पर हाथ ताप रहा है।

नगर पालिका प्रशासन ने महिला और पुरुषों के लिए रैन बसेरों को भी खुलवा दिये गये हैं। आरोप है कि नगर पालिका प्रशासन द्वारा नगर में जलवाए जा रहे अलाव का फोटो खिंचकर तहसील कर्मचारी ग्रुप में अपने अलाव को जलवाने का दावा कर रहे हैं। जबकि अभी तक तहसील अधिकारियों द्वारा नगर में कोई अलाव की व्यवस्था नहीं की है।

तहसील अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुरूप शासन से नगर पंचायत से लेकर तहसील स्तर अंतर्गत नगर व देहात क्षेत्र में सर्द ऋतु दौरान 50 हजार रुपये अलाव के लिये आवंटित होता है तो वही बिना बजट के नगर पालिका प्रशासन ने अपने स्तर पर नगर के विभिन्न दर्जनभर मुख्य चौराहों पर अलाव की व्यवस्था करा रखी है।

मैदानी ओर पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही लगातार बर्फबारी के बाद हाल फिलहाल हुई बारिश के बाद ठंड के सर्द हवाओं से पारा दिन प्रतिदिन गिरावट हो रही है। कड़ाके की ठंड के कारण लोग घरों में कैद होने के लिये मजबूर होने लगे हैं, लेकिन शीत लहर व कड़ाके की सर्दी के बावजूद अभी तक तहसील अधिकारियों ने अलाव की व्यवस्था नहीं कराई है।

नगर पालिका ईओ सुनील कुमार व चेयरमैन अय्यूब कालिया ने बताया कि ठंड का प्रकोप बढ़ते देख नगर के करीब एक दर्जन से अधिक मुख्य चौराहों पर अलाव की व्यवस्था कराई गई है ओर अलाव प्रभारी योगेश कुमार की देखरेख में नगर में प्रतिदिन अलाव को जलवाने का कार्य कर राहगीरों को राहत दिलाई जा रही है।

वहीं तहसील प्रशासन द्वारा नगर में अलाव की व्यवस्था नहीं कराने के बाद नगर पालिका के अलाव पर हाथ ताप रहा है। सूत्रों की मानें तो तहसील प्रशासन नगर पालिका प्रशासन द्वारा जलवाए जा रहे अलाव का फोटो खिंच तहसील प्रशासन के ग्रुप में अपलोड कर अलाव जलाने का दम भर रहा है।

जबकि सुबह शाम पडने वाली हाड़ कंपाने वाली ठंड से राहगीरों के साथ साथ देर रात्रि बाहर नजर आने वाले रिक्शा चालक समेत मजदूर तबके ओर बेसहारा लोग ठंड की चपेट में आने को मजबूर है। नगर पालिका प्रशासन ने आने जाने वाले राहगीरों के लिए रैन बसेरों को भी खुलवा दिये गये हैं।

रात्रि के समय रैन बसेरों में रुकने वाली महिलाओं व पुरुषों के लिए अलग-अलग व्यवस्था कराई गई है। चेयरमैन अय्यूब कालिया ने रैन बसेरों में रुकने वाले लोगों के लिए अच्छा बंदोबस्त कर कर्मचारियों की शिफ्ट वाइज ड्यूटी लगाकर रजिस्टर में एंट्री दर्ज करने के निर्देश दिये गये हैं।

ईओ सुनील कुमार ने बताया कि जल्द से जल्द कड़ाके की ठंड के मद्देनजर गरीब व असहाय लोगों को चिह्नित कर कंबलों का वितरण किया जाएगा। तहसील में भले ही विकलांगों को कंबल वितरित किये गए हो, लेकिन तहसील प्रशासन नगर पालिका द्वारा जलवाए जा रहे अलाव पर हाथ तापने को मजबूर है।

नगर पालिका द्वारा चिह्नित अलाव के स्थान

वीवीआईपी तहसील चौराहा, फलावदा चौराहा, सुभाष चौक, बस स्टैंड चौकी, किला रोड, पक्का तालाब, खतौलिया चोक, चोखट्टा तिराहा, मवाना शुगर मिल तिराहा आदि दर्जनभर मुख्य चौराहा आदि।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments