Sunday, January 23, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutकोरोना की तीसरी लहर से निपटने को तैयार जिला अस्पताल

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने को तैयार जिला अस्पताल

- Advertisement -
  • ओमिक्रॉन के तेजी से बढ़ते मामले बढ़ा रहे स्वास्थ्य विभाग की धड़कनें

जनवाणी संवाददाता  |

मेरठ: जिले में कोरोना के मामले दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं। इससे लोगों के मन में दहशत है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग भी कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सतर्क हो गया है। कोरोना वायरस और खासतौर से ओमिक्रॉन वैरिएंट के मामलों में तेजी से स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। जिले में कोरोना का आतंक एक बार फिर से शुरू हो गया है। नए साल में कोरोना के मामले दोगुने हो गए हैं। हर दिन बड़ी संख्या में नए संक्रमित जिले में मिल रहे हैं।

कोरोना संक्रमण के मामलों में अचानक वृद्धि के बाद स्वास्थ्य विभाग भी तैयारियों में जुट गया है। अधिक से अधिक बेड के इंतजाम से लेकर आॅक्सीजन, मेडिकल स्टाफ और दवाओं की व्यवस्था की जा रही है। वहीं जिले के स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों का कहना है कि यदि कोरोना की तीसरी लहर आती है तो दूसरी लहर की तरह न तो मरीजों को बेड की किल्लत झेलनी होगी और न ही आॅक्सीजन के लिए परेशान होना पड़ेगा।

कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कमर कस ली है। साथ ही जिले के अस्पतालों में कोरान संक्रमण से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। वहीं, तेजी से बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने सभी राज्यों को सतर्क रहने और जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं।

कोरोना की दूसरी लहर से देश अभी उबर नहीं पाया था कि कि तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। वहीं, कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को अधिक खतरा है।
कोरोना से बचाव के लिए जिले में बच्चों के लिए वैक्सीनेशन की शुरुआत कर दी गई है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग की ओर से तीसरी लहर से निपटने के लिए जिला अस्पताल में पीआईसीयू वार्ड तैयार किया गया है। कोरोना की पहली और दूसरी लहर के दौरान जिले में आॅक्सीजन को लेकर हाहाकार मच गया था।

वहीं, कोरोना की तीसरी लहर से लोगों को बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से खास इंतजाम किए गए हैं। पिछली बार कोरोना संकट इतना अधिक था कि स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई थीं। जिले में आॅक्सीजन की कमी से कई लोगों की मौत हो गई थी। जिला अस्पताल के पीकू वार्ड इंचार्ज डा. योजना अग्रवाल ने बताया कि कोरोना से निपटने के लिए जिला अस्पताल पूरी तरह से तैयार है। सभी बेड पर आॅक्सीजन सप्लाई का इंतजाम किया गया है। इसके साथ ही उपकरणों की टेस्टिंग की जा चुकी है।

20 बेड का पीकू वार्ड तैयार

जिला अस्पताल में 20 बेड का पीकू वार्ड तैयार किया गया है। पीकू वार्ड इंचार्ज डा. योजना अग्रवाल ने बताया कि सभी बेडों पर आॅक्सीजन के पर्याप्त इंतजाम हैं। वार्ड के सभी बेडों पर आॅक्सीजन की सप्लाई है। वार्ड में सभी उपकरणों की टेस्टिंग कर ली गई है। पीकू वार्ड में एक एनेस्थेटिक डाक्टर, ईएमओ (इमरजेंसी मेडिकल आॅफिसर), स्टाफ नर्स, वार्ड ब्वॉय, ओटी टेक्नीशियन सहित अन्य स्टाफ मौजूद है|

उपकरण के साथ सभी दवाइयां जिला अस्पताल में उपलब्ध हैं। कोरोना मरीजों को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में आॅक्सीजन प्लांट सुचारु रूप से संचालित हो रहा है। वहीं, जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों की स्कैनिंग की जा रही है। बेड से लेकर मेडिकल स्टाफ, दवाओं एंव आॅक्सीजन के पुख्ता इंतजाम जिला अस्पताल के पीकू वार्ड में किए गए हैं। वहीं, जिला अस्पताल में सैनिटाइजेशन एवं मास्क लगाकर ही अस्पताल के अंदर प्रवेश दिया जा रहा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments