Wednesday, January 26, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसावधान: साइबर अपराधियों ने ठगी का निकाला नया तरीका

सावधान: साइबर अपराधियों ने ठगी का निकाला नया तरीका

- Advertisement -
  • वैक्सीन की दोनों डोज लगने की जानकारी के नाम पर कर रहे ठगी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: साइबर अपराधी लोगों को ठगने के लिए नये-नये हथकंड़े अपना रहे है। कभी फर्जी मोबाइल नंबर से कस्टमर केयर अधिकारी बनकर तो कभी बैंक अधिकारी बनकर, कभी एटीएम बंद होने और केवाईसी अपडेट कराने के नाम पर ठगी कर रहे है। यही नहीं साइबर अपराधियों ने कुछ दिनों पहले एक नया तरीका निकाला था, जिससे वह लोगों के खाते में पैसे भेजने की बात कहकर उनके खाते से पैसे उड़ा लेते थे।

अब इन्होंने वैक्शीन की दोनों डोज लगने की जानकारी लेने के नाम पर ठगी करने का तरीका खोज निकाला है। साइबर अपराधियों के रोज नये-नये तरीके अपनाने के चलते साइबर सेल भी चौकन्ना हो गया और पहले से ही लोगों को जागरूक करने का काम शुरू कर देते हैं।

जनपद में साइबर सेल और थाना पुलिस की ओर से लगातार साइबर के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। जिसके चलते साइबर सेल आए दिन ठगी के शिकार लोगों के खातों में पैसे रिफंड करा रही है। इसके साथ पंपलेट व पोस्टर के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का भी काम साइबर सेल कर रही है। यही नहीं कुछ दिनों पहले ब्रह्मपुरी पुलिस ने तीन साइबर अपराधियों को भी गिरफ्तार किया था।

जिनसे करोड़ों रुपये कीमत की एक आॅडी, आईटेन और अन्य सामान बरामद किया था। पुलिस पूछताछ में सामने आया था कि पकड़े गए साइबर अपराधी 50 करोड़ रुपये से ज्यादा की ठगी कर चुके हैं।

कई तरह से होती है ठगी

साइबर अपराधी लोगों अपना शिकार बनाने के लिए कई तरह केक हथकंडे अपनाते हैं। जैसे फर्जी मोबाइल नंबर से कस्टमर केयर अधिकारी बन, बैंक अधिकारी, एटीएम बंद होने और केवाइसी अपडेट करने के नाम पर कॉल कर ओटीपी प्राप्त करते हैं और ठगी को अंजाम देते हैं।

इसी के साथ यह अन्य तरीके भी अपनाते है, जैसे केवाइसी अपडेट करने के नाम पर, आधार कार्ड नंबर लेकर खाता लिंक कराने के नाम पर, फोन-पे, पेटीएम, मनी रिक्वेस्ट भेजकर ओटीपी प्राप्त कर रुपये ठगी करना, गूगल पर विभिन्न प्रकार पर वॉलेट, बैंक के फर्जी कस्टमर केयर नंबर विज्ञापन देकर लोगों से सहायता के नाम पर ठगी करते है।

साइबर सेल और थाना पुलिस लोगों को जागरूक करने के लिए बस अड्डा, रेलवे स्टेशन, स्कूल-कॉलेज के गेट पर और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर पंपलेट व पोस्टर लगाकर जागरूकता फैला रहे है। इसके बावजूद प्रतिदिन लोग ठगी का शिकार हो रहे हैं।

अब वैक्सीन डोज के नाम पर भी हो रही ठगी

साइबर अपराधियों ने ठगी का अब एक और नया तरीका निकाला है। साइबर अपराधी फोन करके लोगों से वैक्सीन डोज लगने की जानकारी प्राप्त करते है। यदि किसी को दोनों डोज लग चुकी है उन्हें बुस्टर डोज लगाने के लिए ओटीपी भेजा जाता है। इसके बाद ओटीपी के माध्यम से उसके बैंक खाते से पैसे साफ कर दिए जाते है। वैक्सीन के नाम पर हो रही ठगी को लेकर पुलिस पूरी तरह सचेत हो गई और फेसबुक, वाट्सऐप के माध्यम से लोगों को जागरूक करना शुरू कर दिया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments