Friday, December 9, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarपूर्व ग्राम प्रधान की दबंगई दलित की जमीन पर किया कब्जा

पूर्व ग्राम प्रधान की दबंगई दलित की जमीन पर किया कब्जा

- Advertisement -
  • दलित दंपत्ति ने उपजिलाधिकारी से की कब्ज़ा हटवाने की मांग

जनवाणी संवाददाता |

मोरना: दलित दंपत्ति ने ककरौली थाना क्षेत्र के एक पूर्व प्रधान पर जमीन पर कब्जा करने का आरोप लगाया है। पूर्व प्रधान ने अपनी दबंगई दिखाते हुए दलित की जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा कर उसके साथ मारपीट व गाली गलौज करने का भी आरोप पीड़ित ने लगाया है। पीड़ित ने उपजिलाधिकारी जानसठ को शिकायत कर कार्यवाही की मांग की है।
थाना ककरौली क्षेत्र के गांव कासमपुर खोला के एक पीड़ित दलित दंपत्ति ने उप जिलाधिकारी जानसठ को शिकायती प्रार्थना पत्र देते हुए आरोप लगाया है कि पीड़ित ग्राम कासमपुर खोला परगना भूमा संभलहेड़ा तहसील जानसठ का निवासी है।

पीड़ित की जमीन खाता संख्या 83 के खसरा नंबर 183 /2 रकबा0.2200 हेक्टेयर है। वही खसरा नंबर 199/2 रकबा 0.2660है कुल 2 किते रकबा 0.4860 हेक्टेयर है, जिस पर पीड़ित अपनी खेती बाड़ी करता है पीड़ित ने बताया कि उसकी आर्थिक स्थिति अत्यंत खराब होने के कारण पीड़ित ने खसरा नंबर 183/2 रकबा 0.2200हेक्टेयर को 5 नवंबर 2022 को बेच दी थी तथा अपने कब्जे के आधार पर जमीन खरीदने वाले को कब्जा करा दिया था तथा पीड़ित के खसरा नंबर 199/2 रकबा0.2666 पर गांव की दबंग पूर्व प्रधान ने दबंगई दिखाते हुए अपने साथियों को अवैध कब्जा करा रखा है पीड़ित का आरोप है कि आरोपी द्वारा किसी अन्य महिला से पीड़ित के गांव के कुछ जिम्मेदार व्यक्तियों के खिलाफ शिकायत की गई है।

जिस कारण गांव की एक महिला द्वारा गांव के लोगों के खिलाफ झूठी शिकायत की गई है जिससे गांव के कुछ सम्मानित लोगों पर काफी आर्थिक व मानसिक तनाव झेलना पड़ रहा है वहीं पीड़ित ने आरोप लगाया कि गांव निजामपुर निवासी पूर्व ग्राम प्रधान ने पीड़ित की 4 बीघा जमीन पर दबंगई से कब्जा करने का आरोप लगाया है वही पीड़ित ने बताया कि उनके पूर्वजों की 7 बीघा जमीन थी जिसमें आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण उन्होंने अपनी लगभग 3 बीघा जमीन बैच कर अपने परिवार पर खर्च कर लिए।

बाकी चार बीघे जमीन पर पूर्व प्रधान ने दबंगता दिखाते हुए कब्जा करने का आरोप पीड़ित ने लगाया है पीड़ित ने उप जिलाधिकारी जानसठ को शिकायती प्रार्थना पत्र देकर अपनी जमीन कब्जा मुक्त कराने की मांग की है तथा आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी दलित द्वारा की गई है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments