Wednesday, December 6, 2023
HomeUttar Pradesh NewsSaharanpurबालक लक्ष्य का गमगीन माहौल में किया गया अंतिम संस्कार

बालक लक्ष्य का गमगीन माहौल में किया गया अंतिम संस्कार

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

गंगोह:  गांव खानपुर गुर्जर निवासी बालक लक्ष्य का बुधवार को गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया। बालक की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत 4 से 5 दिन पूर्व ही गला घोंटने से होना बताया गया।

ईख के खेत से मिलें 22 दिन पूर्व लापता हुए बालक का शव पोस्टमार्टम होकर मंगलवार की रात आ गया था और पुलिस लगातार स्वजन पर जल्दी से जल्दी अंतिम संस्कार का दबाव बना रही थी। मगर स्वजन व ग्रामीण हत्यारों का राजफाश हुए बिना अंतिम संस्कार को तैयार नही थे। सवेरे लगभग साढे सात-आठ बजे के तहसीलदार राधेश्याम शर्मा, कोतवाल जसबीर सिंह भारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंचकर परिजनों को मनाने में जुट गये थे। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया था।

काफी देर बाद बसपा विधानसभा अध्यक्ष नरेन्द्र ओलरी, राजकुमार गंर्धव, अरविन्द, ग्राम प्रधान याकूब व कारी साजिद आदि ने भी इन्हें समझाया तो परिजन अंतिम संस्कार को तैयार हो गये। लगभग साढे ग्यारह बजे के बाद बेहद गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार हो सका। इससे पहले मृतक के घर पर तमाम लोगों का जमावडा लगा रहा। शव के साथ भी बडी संख्या में लोग अंतिम संस्कार को पहुंचे। ग्रामीणों ने बताया कि लक्ष्य का पिता मजदूरी कर गुजर बसर करता था।
छह साल पहले भी खो चुका है राजकुमार एक बच्चा

खानपुर गुर्जर निवासी राजकुमार 4 वर्षीय बालक लक्ष्य को अकाल मौत का शिकार बनने से पहले भी लगभग 6 साल पहलें अपने बडे बेटे 6 वर्षीय किशोर को गंवा चुका है। जिसकी मौत कूडे के ढेर से कोई जहरीला पदार्थ खाने से हो चुकी है। जिसका गम भी बार बार मृतक की मां पुष्पा के गम से झलक रहा था। लक्ष्य परिवार के साथ 2 जनवरी को ही अपने नाना के यहां से लौटा था और सायं को ही घर के बाहर से लापता हो गया था। तहसीलदार राधेश्याम शर्मा ने ग्रामीणों को बताया कि प्रशासन के पास तो इस तरह का कोई फंड नही है लेकिन परिवार की गरीबी को देखते हुए वह शासन से सहायता दिलाने का प्रयास करेंगें।

- Advertisement -

Recent Comments