Tuesday, October 26, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनगरायुक्त से जगी शहर की उम्मीद, क्या बनेगा शहर स्मार्ट

नगरायुक्त से जगी शहर की उम्मीद, क्या बनेगा शहर स्मार्ट

- Advertisement -
  • सफाई कर्मचारियों को दी पहली और अंतिम चेतावनी, ड्यूटी से भी मिले कर्मचारी गायब

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: नगरायुक्त मनीष बंसल से शहर को काफी उम्मीदें हैं। जिस तरह से नगरायुक्त निरीक्षण पर निकले हैं, उससे तो तय हो गया है कि नगरायुक्त शहर को स्मार्ट बनाने की दिशा में गंभीर है। इस दौरान उन्होंने वार्ड-32 व 44 की सफाई व्यवस्था को देखा। वार्ड-32 का भी निरीक्षण किया।

इन तीनों वार्डों में बायोमैट्रिक मशीन पर उपस्थिति का अवलोक किया तो उसमें बड़ी तादाद में सफाई कर्मी गायब मिले। सर्किट हाउस व आईजी आॅफिस के पास भी कूड़े के ढेर लगे हुए मिले। नालियों में सिल्ट भरी पड़ी थी। कूड़ेदान भी यहां भरे हुए थे,उनकी भी सफाई नहीं हुई थी।

जयकिशन कर्णवाल ने शिकायत की है कि सफाई कर्मी नियमित सफाई करने नहीं आते। यही वजह है कि क्षेत्र में गंदगी व्याप्त है। पीडब्ल्यूडी के आॅफिस के बाहर भी कूड़े के ढेर लगे थे। कूड़ेदान भी गंदगी से भरे हुए थे। स्टेडियम चौराहे पर भी कूड़े के ढेर लगे मिले। चरमराई सफाई व्यवस्था को लेकर नगरायुक्त ने कड़ा आक्रोश व्रूक्त किया तथा निर्देश दिये कि सभी कर्मचारी सर्वप्रथम उपस्थिति दर्ज करायेंगे।

फिर बीट में जाएंगे। इसमें किसी ततरह की लापरवाही इसमें बर्दाश्त नहीं की जाएगी। स्व्च्छता मित्रों की उपस्थिति पंजिका में नाम, फोटो व मोबइाल नंबर भी लिखा जाए। सभी सफाई कर्मी यूनिफॉम पहनेंगे। सभी सफाई कर्मी पहचान पत्र के बिना कार्य करता हुआ नहीं मिले। कहीं कूड़ा जलता हुआ मिला तो उसके लिए सीधे सफाई नायब जिम्मेदार होंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ सैनिटाइज व फॉगिंग किया जाए। सुबह सफाई व्यवस्था का औचक निरीक्षण के बाद नगरायुक्त मनीष बंसल ने सफाई कर्मियों को पहली और अंतिम चेतावनी दी। सिविल लाइन क्षेत्र वीवीआईपी माना जाता है, जहां पर गंदगी के ढेर लगे थे। डस्टबिन से भी कूड़ा साफ नहीं किया गया।

गोशाला निर्माण में घटिया सामग्री देख भड़के नगरायुक्त

नगरायुक्त डा. अरविन्द चौरसिया बदल गए, मगर निगम के अफसरों व ठेकेदारों ने नहीं सुधरने की कसम खा ली है। कान्हा उपवन गोशाला में कुछ निर्माण चल रहा है। निर्माण में खराब र्इंट व घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा था। निम्न स्तर की र्इंटों को देखकर नगरायुक्त मनीष बंसल भड़क गए।

ये देखकर नगरायुक्त ने कहा कि मुख्य अभियंता इसकी जांच कराये तथा ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करें। गोशाला में समुचित सफाई व्यवस्था भी नहीं मिली। प्रकाश व्यवस्था भी बेहतर नहीं थी। पूरे सिस्टम पर ध्यान रखने के लिस्ट सीसीटीवी कैमरे लगवाने के निर्देश दिये। कहा कि बीमार गाय की देखभाल करें तथा पशु चिकित्सक की इसमें बड़ी जिम्मेदारी है।

इसके लिए चिकित्सक की मौजूदगी होनी चाहिए। प्रतिदिन गोशाला का निरीक्षण चिकित्कसों की टीम करेगी। इसमें किसी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। गोमुत्र कलेक्शन करें तथा गोबर से उफले और लट्ठे तैयार करें। करीब 400 ट्रॉली गोबर को उठवाने के भी नगरायुक्त ने निर्देश दिये।

वाहन डिपो का भी किया निरीक्षण

नगरायुक्त ने दिल्ली रोड वाहन डिपो का निरीक्षण किया। खराब वाहनों को ठीक कराये तथा वाहनों की प्रतिदिन धुलाई की जानी चाहिए। वाहन कितने चक्कर लगाते हैं, उनकी पूरी डिटेल के साथ वाहन डिपो प्रभारी को तलब कर लिया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments