Tuesday, January 25, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutनिर्वाचन को निर्विघ्न, शांतिपूर्ण, शुचितापूर्ण और पारदर्शी ढ़ग से संपन्न कराये: कमिश्नर

निर्वाचन को निर्विघ्न, शांतिपूर्ण, शुचितापूर्ण और पारदर्शी ढ़ग से संपन्न कराये: कमिश्नर

- Advertisement -
  • आयुक्त ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ किया मतगणना स्थल कताई मिल का निरीक्षण

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: आयुक्त सभागार में मेरठ खंड स्नातक और शिक्षक निर्वाचन के संबंध में मेरठ व बागपत के कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये आयुक्त व रिटर्निंग आॅफिसर अनीता सी. मेश्राम ने कहा कि निर्वाचन को निर्विघ्न, शांतिपूर्ण, सूचितापूर्ण व पारदर्शी ढ़ग से संपन्न कराये। उन्होंने बताया कि शिक्षक के मतदान के लिए बांये हाथ की तर्जनी पर व स्नातक चुनाव के लिए बांये हाथ की मध्यमा पर अक्षत स्याही लगायी जायेगी। इसके उपरान्त उन्होने मतगणना स्थल कताई मिल का अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया।

आयुक्त ने कहा कि मतदान कार्मिकों व पोलिंग पार्टी कार्मिकों, पीठासीन अधिकारियों का प्रशिक्षण आयोग द्वारा दिये गये दिशा-निर्देशों की जानकारी व मतदान व मतगणना की प्रक्रिया आदि विषयों पर कराये। मतदान केन्द्र पर मास्क आदि की व्यवस्था रखें तथा मतदान कार्मिकों को भी अच्छी गुणवत्ता वाले मास्क, ग्लब्स आदि उपलब्ध कराये जाये। बूथ एजेंट उसी जनपद का निवासी होना चाहिए तथा बैलेट पेपर में नोटा का विकल्प नहीं होगा।

स्नातक के लिए सफेद व शिक्षक के लिए गुलाबी बैलेट पेपर होगा। आयुक्त/रोल प्रेक्षक अनीता सी. मेश्राम ने कहा कि एक व्यक्ति शिक्षक व स्नातक दोनों के लिए मतदाता हो सकता है और उसका वोट अलग-अलग बूथों/केन्द्र पर हो सकता है। कोरोना मरीज मतदान से वंचित न रहे इसके लिए संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारी व्यवस्थाएं कराये। सभी प्रत्याशी आदर्श आचार संहिता व कोविड-19 गाइड लाइंस का पालन करें ये सुनिश्चित किया जाये।

वहीं, आयुक्त ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ परतापुर स्थित कताई मिल जिस पर आगामी तीन दिसम्बर 2020 को मतगणना होगी, का निरीक्षण किया। कहा कि हर दो घंटे में आयोग को मतदान प्रतिशत की जानकारी भेजी जानी है। इसके लिए सभी जनपदों में इस कार्य के लिए एक-एक नोडल अधिकारी की तैनाती की जाये। निरीक्षण के दौरान आयुक्त ने कहा कि मतगणना स्थल हॉल में हवा का अच्छा आवागमन हो तथा साफ-सफाई व प्रकाश की समुचित व्यवस्था पूरे मतगणना केन्द्र में की जाये।

उन्होंने स्ट्रॉग रूम का निरीक्षण किया तथा मीडिया सेंटर व पार्किंग स्थल के लिए चिह्नित स्थानों को भी देखा। डीए के. बालाजी ने बताया कि बैलेट बॉक्स में यूनिक नम्बर होगा तथा एक हॉल में शिक्षक व एक हॉल में स्नातक की मतगणना होगी। जनपद में स्नातक के लिए 60235 व शिक्षक के लिए 5465 मतदाता है। साथ ही निर्वाचन के लिए जनपद मेरठ में 31 मतदान केन्द्र स्नातक के लिए व 30 मतदान केन्द्र शिक्षक के लिए बनाये गये हैं तथा 77 मतदेय स्थल (बूथ) स्नातक के लिए व 30 शिक्षक के लिए बनाये गये हैं।

डीएम बागपत शकुन्तला गौतम ने बताया कि जनपद बागपत में सात मतदान केन्द्र व 21 मतदेय स्थल है तथा शिक्षक के लिए 2050 व स्नातक के लिए 11635 मतदाता है। इस अवसर पर आईजी प्रवीण कुमार, डीएम मेरठ के. बालाजी, डीएम बागपत शकुन्तला गौतम, एसएसपी अजय साहनी, अपर आयुक्त रजनीश राय, अपर जिलाधिकारी प्रशासन मदन सिंह गर्ब्याल, एसपी ट्रैफिक जितेन्द्र श्रीवास्तव, सहायक नगरायुक्त ब्रजपाल सिंह सहित अन्य पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे।

चुनाव के लिए 32 सेक्टर और 11 जोनल मजिस्ट्रेट रहेंगे तैनात

विधान परिषद मेरठ खंड स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन की जनपद स्तरीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये डीएम ने कहा कि विधान परिषद चुनाव निर्विवादित, सुचितापूर्ण व पारदर्शी ढ़ग से सम्पन्न कराये। उन्होंने बताया कि एक दिसम्बर को मतदान बैलेट पेपर के माध्यम से होगा, जिसमें स्नातक के लिए सफेद व शिक्षक के लिए गुलाबी बैलेट पेपर होगा। निर्वाचन के लिए जनपद में 32 सेक्टर व 11 जोनल मजिस्ट्रेट बनाये गये हैं तथा 14 सेक्टर व आठ जोनल मजिस्ट्रेट अतिरिक्त बनाये गये हैं।

डीएम के. बालाजी ने कहा कि सभी प्रत्याशी आचार संहिता व कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करें। मतदान के दिन कोरोना पॉजिटिव व कोरोना के संदिग्ध मरीज भी अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें। इसके लिए समुचित व्यवस्था की जाये। मतदाता को प्रथम वरीयता देना जरूरी है। डीएम ने सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेटों को निर्देशित किया कि वह अपने क्षेत्रांतर्गत आने वाले मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर वहां प्रकाश व्यवस्था, पानी की व्यवस्था, शौचालय व रैम्प की व्यवस्था सहित सभी आयोग द्वारा निर्धारित सुविधाओं का होना सुनिश्चित कराये।

साथ ही मतदान को शांतिपूर्ण व निर्विघ्न रूप से सम्पन्न कराने के लिए जनता से बेहतर समन्वय स्थापित करें। उप जिला निर्वाचन अधिकारी मदन सिह गर्ब्याल ने बताया कि स्नातक के लिए 60235 व शिक्षक के लिए 5465 मतदाता है। साथ ही निर्वाचन के लिए जनपद मेरठ में 31 मतदान केन्द्र स्नातक के लिए व 30 मतदान केन्द्र शिक्षक के लिए बनाये गये हैं तथा 77 मतदेय स्थल (बूथ) स्नातक के लिए व 30 शिक्षक के लिए बनाये गये हैं। इस अवसर पर सभी सेक्टर व जोनल और मजिस्ट्रेट अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

एमएलसी चुनाव में प्रभारियों ने संभाली कमान

एमएलसी शिक्षक खंड एवं स्नातक चुनाव में राजनीति पार्टी जीत दर्ज करने के लिए हर तरह से समीकरण बनाने में जुट गई है। क्योंकि अब चुनाव में ज्यादा समय नहीं बचा हैं। इसलिए चुनाव के लिए राजनीतिक पार्टियों द्वारा नियुक्त किए गए प्रभारियों ने मतदाता से संपर्क करना शुरू कर दिया है। वहीं, भाजपा ने चुनाव की तैयारी एक साल पूर्व ही शुरू कर दी थी। क्योंकि पहली बार भाजपा पैनल तले चुनावी मैदान में उतरी है।

इसी क्रम में कांग्रेस भी दमदारी से चुनावी मैदान में उतरी है। सपा का उस तरह से अभी तक प्रचार दिखाई नहीं दिया। जिस तरह से भाजपा एवं कांग्रेस सोशल मीडिया पर चुनावी मैदान में उतरी हैं। ऐसे में आने वाले चुनाव में देखना होगा कि किसके भाग्य में जीत होगी। वहीं, दूसरी ओर शिक्षक खंड का चुनाव भाजपा एवं वरिष्ठ शिक्षक नेता ओमप्रकाश शर्मा के बीच काटे का माना जा रहा है। जिसमें एक तरफ जहां भाजपा शिक्षकों को अपने तरफ करने में जुटी हुई है। वहीं, शिक्षक नेता ओमप्रकाश शर्मा का भी शिक्षकों में वर्चस्व माना जाता हैं। जिससे चुनाव में कड़ी टक्कर की संभावनाएं हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments