Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutग्रामीण क्षेत्र में कोरोना का जबरदस्त हमला

ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना का जबरदस्त हमला

- Advertisement -
0
  • तीन की मौत, संक्रमण के 716 केस, मेडिकल कैंपस 108 आरएएफ बटालियन सीईआरटी इंस्टीट्यूट में बड़ी संख्या में केस

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कोरोना संक्रमण का ग्रामीण क्षेत्र पर बड़ा हमला हुआ है। पंचायत चुनाव में देर रात प्रत्याशियों की ओर मतदाताओं के लिए सजायी जा रही महफिलें कोरोना संक्रमण को दावत दे रही हैं। संक्रमण के 716 केस इस बात का पुख्ता प्रमाण माना जा रहा है।

शनिवार को कोरोना अपडेट जारी करते हुए सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने 716 व एक की मौत की जानकारी दी है। इसके इतर मेडिकल अस्पताल के सूत्रों ने जानकारी दी है कि मेडिकल की पूर्व मैट्रन नूरी क्रिस्टोफर, सेंट जोन्स स्कूल कर्मचारी व माधवपुरम निवासी एक महिला समेत कई अन्य संक्रमितों की उपचार के दौरान मौत हो गयी।

हालांकि अधिकृत रूप से बी-5 शास्त्रीनगर निवासी 86 वर्षीय शख्स की मौत की पुष्टि की गयी है। स्वास्थ्य विभाग की सर्विलांस टीम ने कुल 10013 सेंपल जांच के लिए मेडिकल की माइक्रोबॉयलोजी लैब भेजे गए थे। इनमें से 716 सैंपल संक्रमित पाए गए हैं। इसके साथ ही अब जनपद में संक्रमण के 25933 केस हो गए हैं।

बड़ी संख्या में ऐसे इलाके हैं जहां बड़ी संख्या में संक्रमित पाए गए हैं। इनमें परतापुर स्थित सीईआरटी इंस्टीट्यूट, एलएलआरएम मेडिकल कैंपस, 108 आरएएफ बटालियन भी शामिल हैं। जहां ज्यादा केस मिले हैं इलाकों में मुन्नालाल मवाना, होली फेमिली, प्रवेश विहार शास्त्रीनगर, गांधी नगर गली नंबर-दो, ब्रह्मपुरी इंदिरा नगर, कमलानगर लल्लापुरा, सदर गंज बाजार व कबाड़ी बाजार, भट्टीपुरा व नंगला बट्टू, कासमपुर गली नंबर-31, छुर्र, खिवाई, मुल्हेड़ा।

लिसाड़ीगेट के प्रहलाद नगर इस्लामाबाद में तो हालात विस्फोटक हैं। संक्रमितों में बड़ी संख्या छात्रों की है। इनके अलावा हेल्थ केयर वर्कर, कामकाजी घरेलू महिलाएं, कारोबारी, मजदूर, कैदी, अधिवक्ता, किसान आदि भी शामिल हैं।

पूर्व मैट्रन, सेंट जोन्स कर्मी की संक्रमण से मौत

मेडिकल की एक पूर्व मैट्रन व सेंट जोन्स के कर्मचारी की कोरोना संक्रमण के चलते उपचार के दौरान उनकी मौत हो गयी। पूर्व मैट्रन नूरीन क्रिस्टोफर निवासी लखमी विहार को कोरोना संक्रमित होने पर मेडिकल के कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था।

शनिवार की तड़के उपचार के दौरान उनकी मौत हो गयी। इसके अलावा सेंट जोन्स के एक कर्मचारी जो जो का भी उपचार के दौरान कोविड वार्ड में निधन हो गया। क्रिस्टोफर के परिजनों से मेडिकल प्रशासन पर इलाज के नाम पर मरीजों के साथ लापरवाही बरते जाने के आरोप लगाए।

उनकी मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए शव परिजनों को सौंप दिया गया है। इनके अलावा हरि कमल दर्पण के संरक्षक विजय पाल सिंह का भी मेडिकल कोविड आइसोलेशन में उपचार के दौरान निधन हो गया।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments