Monday, August 15, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarकिसानों ने बैठक का किया बहिष्कार, अधिकारियों ने की स्थगित करने की...

किसानों ने बैठक का किया बहिष्कार, अधिकारियों ने की स्थगित करने की घोषणा

- Advertisement -
  • गन्ना विकास समिति की वार्षिक बैठक में किसानों को मीटिंग से बाहर जाने का सुनाया फरमान
  • किसानों से हुई झड़प, बैठक में लगे डीसीओ मुर्दाबाद के नारे

जनवाणी संवाददाता |

मोरना: गन्ना विकास सहकारी समिति मोरना की वार्षिक बैठक में किसानों ने जमकर हंगामा किया। आरोप था कि बैठक के दौरान जिला गन्ना अधिकारी ने तुगलकी फरमान सुनाते हुए बैठक में मौजूद किसानों को बाहर जाने का आदेश दे दिया था, जबकि किसान केवल मानकों के अनुरूप बैठक को आयोजित किये जाने की मांग कर रहे थे। दूसरी ओर गन्ना विकास अधिकारी किसानों को बैठक से बाहर भेजने की बात से इंकार कर रहे हैं। बैठक के दौरान किसानों ने अधिकारियों को खरी-खोटी सुनाते हुए जिला गन्ना अधिकारी मुर्दाबाद के जमकर नारे लगे तथा बैठक का बहिष्कार कर दिया।

गन्ना किसान सहकारी समिति मोरना के तत्वधान में जीएसएस एकेडमी यूसुपपुर में वार्षिक सामान्य निकाय की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक शुरू होते ही किसानों इस बात पर नाराजगी व्यक्त की कि समिति के सदस्यों को बैठक की सूचना नहीं दी गई, जबकि नियमानुसार बैठक के लिए समिति के सदस्यों को सूचित किया जाना चाहिए। मिल डारेक्टर विकास कुमार, मुकर्रम, संजीव, सोनू, बलकार, मनजीत, बाबूराम राठी, सोरन सिंह, सुभाष, जावेद अब्बास, गुल्लू, प्रधान प्रकाशवीर बाबूजी, श्यामबीर आदि किसानों ने समिति सचिव सुभाष यादव पर किसानों को बेवजह परेशान करने, समिति कार्यलय से कई कई दिनों तक नदारद रहने आदि गंभीर आरोप लगाये। किसानों का आरोप था कि बैठक के दौरान उनका अपमान लगाये।

किसानों द्वारा अपनी बातों को रखे जाने पर जिला गन्ना अधिकारी आरडी द्विवेदी ने माईक से ही किसानों को बैठक से बाहर जाने का फरमान सुना दिया। डीसीओ के फरमान से किसान आक्रोशित हो गये और उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। किसानों ने जिला गन्ना अधिकारी व सचिव मोरना के विरूद्ध मुर्दाबाद के जमकर नारे लगाते हुए अपनी भड़ास निकाली। किसानों ने बैठक को भी रद्द किये जाने की मांग की। गन्ना संघ लखनऊ के डायरेक्टर देवेंद्र चैधरी, पूर्व चेयरमैन अजय कुमार व समिति डारेक्टरो की मौजूदगी में बैठक में किसानों की संख्या कम होने, बैठक रजिस्टर में लिखित रूप में दर्ज कर सचिव द्वारा माइक पर बैठक स्थगित होने की घोषणा होने पर किसान शांत हुए।

किसानों ने की सचिव के खिलाफ कार्रवाई की मांग

मोरना क्षेत्र के किसान सोहनबीर, महावीर, योगेंद्र, अनवर अब्बास, जवाहर सिंह, राजेन्द्र प्रधान, उदयवीर चेयरमैन, मनोज, विक्रम, विजय, दीपक, विकास, महकार, रेशमवीर, विजयकांत, मिंटू, चंदरबीर, बबलु आदि किसानो ने मोरना गन्ना समिति सचिव सुभाष यादव पर संगीन आरोप लगाते हुए उसे सस्पेंड किये जानें कि मांग की है। किसानों का कहना था कि सचिव द्वारा न तो समिति पर आया जाता है और वह किसानों का अपमान करने में लगे रहते हैं, जिसको लेकर किसानों में भारी रोष व्याप्त है।

क्या कहते हैं जिला गन्ना अधिकारी
जिला गन्ना अधिकारी आरडी दिवेदी ने बताया गन्ना विकास सहकारी समिति मोरना में 175 सदस्य नामित है। रविवार को बैठक में कुल 55 सदस्य ही आ पाए थे, जबकि कुछ किसान दो समिति के सदस्य बने हुए है। उन्होंने कहा कि उन्हें सभा से किसानों को भगाने का कोई अधिकार नहीं है और ना ही सभा से किसी किसान को भगाया गया है। उन्होंने कहा कि बैठक गन्ना विकास सहकारी समिति में नामित 175 सदस्यों के लिए है न कि सभी किसानों के लिए, इसलिएबैठक में केवल नामित सदस्य ही होने जरूरी हैं। सभा में कम सदस्य आने के कारण सभा को स्थगित कर दिया गया है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments