Wednesday, September 22, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliभाषाएं चाहे जितनी सीखें पर अपनी राष्ट्रभाषा का सम्मान करें

भाषाएं चाहे जितनी सीखें पर अपनी राष्ट्रभाषा का सम्मान करें

- Advertisement -
  • हिंदी दिवस पर शिक्षण संस्थाओं में प्रतियोगिताओं का आयोजन

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: बीएसएम स्कूल शामली में स्कूल चेयरमैन सूर्यवीर सिंह व मैनेजर छाया सिंह ने कहा 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। उन्होंने राष्ट्रभाषा का सम्मान करने के लिए प्रेरित किया। अध्यापिका निशा ने कहा कि सभी भाषाओं को सीखना बहुत अच्छा है लेकिन अपनी राष्ट्रभाषा को नही भूलना चाहिए। इस मौके पर उप प्रधानाचार्य नीरज कौशिक अध्यापिका सुनीता चौधरी, सीमा शर्मा, निशा, पूनम आदि मौजूद रहे।

महाराजा सूरजमल स्कूल बनत में प्रधानाचार्य विनोद शर्मा ने हिंदी दिवस के बारे में जानकारी दी। हिंदी अध्यापक राजीव तोमर ने निर्देशन में स्लोगन, कविता पाठ, भाषण, संवाद प्रतियोगिता कराई गई। उप प्रधानाचार्य प्रशांत कुमार ने अपनी स्वरचित कविता प्रस्तुत की। कार्यक्रम में विद्यालय के सभी शिक्षक गण उपस्थित रहे।

वीवी पीजी कॉलेज में शामली में वाणिज्य विभाग के द्वारा हिंदी दिवस पर पोस्टर प्रतियोगिता कराई जिसका विषय ‘हिन्दी मेरी पहचान’ रहा। विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा के अनुरूप सुंदर-सुंदर पोस्टर बनाए। निर्णायक मंडल में गिरीश नारायण यादव व डा. छवि रही। प्रतियोगिता में रितिका, मानसी व तनिष्क बंसल क्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय रही। इस मौके पर प्राचार्या डा. मंजू मगन, डा. मृदुला जैन, डा. अनुप्रीता, डा. नीना छोकरा, डा. प्रताप कुमार, पूजा रॉय आदि मौजूद रहे।

श्री सत्यनारायण इंटर कॉलेज शामली में हिंदी दिवस पर निबंध, कविता एवं स्लोगन लेखन प्रतियोगिताओं में छात्र/छात्राओं ने उत्साहपूर्वक प्रतिभाग किया। प्रधानाचार्य अनिल शर्मा कहा कि हमारी राष्ट्र भाषा तथा मातृ भाषा है। हमारे राष्ट्र का विकास एवं गौरव हम हिंदी से ही प्राप्त कर सकते है। इस मैके पर रामनाथ, शिवकुमार, फूलकुमार, साकेत, सोनिया, संजना, छवि, सतीश आत्रेय, सीमा शर्मा, सारिका गर्ग आदि मौजूद रहे।

वीवी इंटर कॉलेज शामली की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा ‘हिंदी की विकास यात्रा’ विषय पर गोष्ठी आयोजित की गई। जिसमें विद्यालय के स्वयंसेवकों ने प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम अधिकारी डा. अनुराग शर्मा ने कहा हिंदी सभा भाषाओं की जननी है और भारतवर्ष की सभी भाषाओं की सिरमौर है। इस मौके पर प्रधानाचार्य एसके आर्य, हिंदी अध्यापक नरेंद्र शर्मा, स्काउट प्रभारी प्रमोद कुमार, खेल शिक्षक अमरपाल, गुरदास सिंह, अर्जुन राम, प्रदीप आर्य, राजीव गोयल, संदीप मित्तल, शाहिद, मनु आदि मौजूद रहे।



हिंदू कन्या इंटर कॉलेज शामली में हिंदी दिवस पर 500 छात्राओं ने कार्यक्रम में प्रतिभाग किया और हिंदी भाषा के बारे में जाना। प्रधानाचार्या डा. दीपाली गर्ग ने बताया कि संविधान सभी ने 14 सितंबर 1949 को देवनागरी लिपि में हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया था। इस मौके पर अलका संगल, मीनाक्षी, अनिता, बलजीत कौर, प्रीति सिंह, तहजीब जहां आदि मौजूद रहे।

सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलिज शामली में हिंदी दिवस पर निबंध प्रतियोगिता हुई। जिसमें तरूण वर्ग में देवांक, सौरव और मानव तथा किशोर वर्ग में शिवम, यश और हर्ष क्र्रमश: प्रथम, द्वितीय व तृतीय रहे। देव, आर्यन, जतिन, लक्ष्य, आकाश और आशुतोष को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। इस मौके पर प्रधानाचार्य आनंद प्रसाद शर्मा, सोमदत्त आर्य, प्रीतम सिंह प्रीतम, मलूक चंद, अशोक सोम, पवन कुमार, मोहर सिंह, वसीम खान आदि उपस्थित रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments