Thursday, October 21, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliपवित्रता विचारों में निर्मलता लाना ही उत्तम शौच धर्म

पवित्रता विचारों में निर्मलता लाना ही उत्तम शौच धर्म

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

कांधला/गढ़ीपुख्ता/शामली: धर्मपुरा स्थित श्री आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर में 10 लक्षण पर्व में चौथे दिन उत्तम शौच धर्म की पूजा अर्चना की गई। शांति धारा मनीष जैन सनी जैन ने कराई। पंड़ित मुन्ना लाल जैन ने विधि विधान से पूजा अर्चना कराई और कहां यह आत्म शुद्धि का पर्व है।

शौच धर्म के बारे में बताया कि उत्तम शौच का अर्थ है पवित्रता, आचरण में नमृता, विचारों में निर्मलता लाना। वहीं पाठ में श्रावक श्राविकाओं ने भाग लिया। अभिषेक जैन, अरविंद जैन, नरेश जैन, गौरव जैन, दीपा जैन, अनीता जैन, मंजू जैन, संध्या जैन, स्वीटी जैन आदि मौजूद रहे। इस मौके पर अनिल जैन, संतोष जैन, प्रवीण जैन, राजेश जैन, दीपक जैन, अशोक जैन मौजूद रहे।

शामली के तालाब रोड स्थित श्री 1008 महावीर दिगंबर जैन मंदिर में 13 दीप महामंडल विधान का आयोजन यिका यगा। यहां सुदेश जैन, राजेश जैन, राजेश जैन, वीरेश जैन आदि मौजूद रहे।

गढ़ीपुख्ता श्री दिगंबर जैन मंदिर में 10 लक्षण पर्व में 13 दीप महामंडल विधान में चौथे दिन उत्तम शौच धर्म की पूजा की गई। इस मौके पर दीपक जैन, नीरज जैन, दीपक राय जैन, अनिल जैन, सुदेश जैन, संजीव जैन, अजय जैन, नीरज जैन, ऋषभ जैन, ममता जैन, रेखा जैन, स्मिता जैन, अनीता जैन आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments