Wednesday, June 16, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBijnorपुलिस पर पथराव करने के मामले में 11 नामजद, 15 से 20...

पुलिस पर पथराव करने के मामले में 11 नामजद, 15 से 20 अज्ञात पर रिपोर्ट दर्ज

- Advertisement -
0

जनवाणी संवाददाता |

नहटौर: ग्राम इब्राहिमपुर साधो उर्फ अलीनगर में गौकशी की सूचना पर पहुँची पुलिस पर आरोपियों द्वारा पथराव के बाद पुलिस ने 11 नामजद तथा 15-20 अज्ञात महिलाओं व पुरुषों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर पकड़े गए आरोपी का चालान कर गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया।

मंगलवार की शाम पुलिस को मुखबिर की सूचना मिली कि अलीनगर में पूर्व प्रधान इसरार के भाई खुर्शीद पुत्र सफीअहमद के यहां गौकशी हो रही है। सूचना के आधार पर पुलिस ने खुर्शीद के यहां छापेमारी कि तो मौके से पुलिस को गोमांस व चार खुर मिले।

जिसके बाद पुलिस ने मास को कब्जे में ले लिया और मौके पर मौजूद शमशाद पुत्र नजीर अहमद को हिरासत में ले लिया। शमशाद के हिरासत में लेने को लेकर परिजनों एवं मौहल्लेवासियों ने पुलिस के साथ धक्का-मुक्की करते हुए पुलिस की गाड़ी पर भी पथराव कर दिया।

जिसमें पुलिस की जीप के भी शीशे टूट गये। पुलिस किसी तरह पकड़े गए आरोपी को थाने ले आई। पुलिस के साथ धक्का मुक्की व पथराव की सूचना पर अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी अनित कुमार, सीओ धामपुर अजय कुमार अग्रवाल, सीओ नगीना सुमित शुक्ला, नगीना इंस्पेक्टर कृष्ण मुरारी दोहरे,कोतवाली देहात इंस्पेक्टर लव सिरोही, धामपुर क्राइम इंस्पेक्टर राजेश कुमार तिवारी आदि भारी संख्या में पुलिस बल गांव में पहुंच गया।

भारी पुलिस के चलते गांव छावनी में तब्दील हो गया। एएसपी पूर्वी अमित कुमार ने घटनास्थल का दौरा कर प्रभारी निरीक्षक जय कुमार को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए गांव में पैदल गस्त भी किया। प्रभारी निरीक्षक जय कुमार ने बताया कि मौके से कटा हुआ मांस, गुटका, काटने के औजार भी बरामद हुए हैं।

मामले में हल्का दरोगा रवींद्र नैंन की और से शमशाद पुत्र नजीर, खुर्शीद पुत्र मोहम्मद सफी, जुबेर पुत्र खुर्शीद, अय्याज व आजाद पुत्रगण कयामुद्दीन, नौरीन, राहत, निशा पुत्री खुर्शीद, हसीबा पत्नी खुर्शीद, जन्नत निशा पत्नी इसरार, समरीन पुत्री इसरार व 15-20 अज्ञात महिला पुरुषों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया व पकड़े गए आरोपी शमशाद का संबंधित धाराओं में चालान कर दिया।

इब्राहिमपुर साधो उर्फ अलीनगर में पुलिस पर हमला करने का यह पहला मामला नहीं है। नौ महीने के अंदर पुलिस पर दूसरी बार पथराव हुआ है। मंगलवार को गौकशी की सूचना पर पहुँची पुलिस पर हुए हमले से पूर्व 16 सितंबर की रात्रि को ग्राम में तत्कालीन नहटौर प्रभारी निरीक्षक सत्य प्रकाश सिंह पुलिस बल के साथ हाईकोर्ट से जारी वारंट के आधार पर निजामुद्दीन पुत्र अब्दुल शकूर के घर पहुंचे थे। जहां पर निजामुद्दीन व उसके परिजनों ने पुलिस पर हमला कर दिया था और पथराव एवं पुलिस के ऊपर मिर्ची फेंक दी थी। इस दौरान निजामुद्दीन एवं उसकी पुत्री शमीना फरार होने में कामयाब हो गई थी।आरोपियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही न होने के चलते ग्रामीणों के हौसले बढते जा रहे हैं और एक के बाद एक पुलिस टीम पर हमला कर रहे हैं।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments