Saturday, October 23, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutखुशखबरी: हरिद्वार तक बनेगी दो लेन कांवड़ पटरी

खुशखबरी: हरिद्वार तक बनेगी दो लेन कांवड़ पटरी

- Advertisement -
  • कांवड़ पटरी पर खर्च होंगे 600 करोड़, चौधरी चरण सिंह को समर्पित
  • 32 हजार करोड़ की लागत से बन रही रैपिड, अब मुजफ्फरनगर तक भी
  • यूपी सरकार को उत्तराखंड सरकार से मिली सहमति, हरिद्वार तक बनेगी टू-लेन पटरी

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मेरठ में रैपिड की मांग उठ रही थी, जिसे केंद्र सरकार की मदद से लागू किया गया है। रैपिड के इस प्रोजेक्ट पर 32 हजार करोड़ खर्च होंगे। ये रैपिड मेरठ ही नहीं, बल्कि मुजफ्फरनगर तक ले जाई जाएगी। इसकी प्लानिंग कर ली गई है।

यह मुजफ्फरनगर की जनता के लिए बड़ा तोहफा होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोहरे के कारण उनकी हेलीकॉप्टर कृषि विश्वविद्यालय में नहीं उतर पाया, जिसके बाद उन्हें वापस गाजियाबाद हिंडन लौटना पड़ा। वहां से वाया कार हापुड़ होते हुए वह मेरठ 30 मिनट में पहुंच गए। अब मेरठ से दिल्ली की राह और भी आसान हो जाएगी।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे बन रहा है। 45 मिनट में मेरठ से दिल्ली का सफर तय हो पायेगा, ये बड़ी उपलब्ध रहेगी। यही नहीं, विकास के और भी रास्ते खोले जा रहे हैं, जिसमें गंगनहर पटरी पर कांवड मार्ग भी है। 600 करोड़ रुपये का टेंडर जारी हो गया है।

टू-लेन पहले बनाई जा चुकी है, लेकिन अब दूसरी तरफ टू-लेन सड़क बनाई जाएगी। ये कांवड़ मार्ग पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को समर्पित होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि हरिद्वार से जोड़ने के लिए भी उत्तराखंड सरकार की सहमति मिल गई है। इसमें उत्तराखंड सरकार भी यूपी की सीमा से आगे बढ़ायेगी।

सड़क मार्ग को जोड़ा गया है। हरिद्वार तक गंगनहर पटरी बनाने के लिए सहमति बनी है। इस प्रोजेक्ट पर दोनों सरकार काम करेगी। बनारस तक जाने के लिए गंगा एक्सपे्रस-वे का निर्माण किया जा रहा है। एक्सप्रेस-वे का जिक्र करते हुए कहा कि मेरठ से दिल्ली तक जाने के लिए अब मात्र 45 मिनट ही सफर तय किया जाएगा।

रैपिड ही पहुंचेगी मुजफ्फरनगर तक

रैपिड रेल दिल्ली से मेरठ तक चलायी जाएगी। इस प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। इसी रैपिड को ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेरठ से मुजफ्फरनगर ले जाने की बात कर रहे हैं। मेट्रो भी शहर में रैपिड रेल की पटरी पर ही दौड़ेगी। इसमें अतिरिक्त मेट्रो का कोई ट्रैक नहीं बनेगा।

23 करोड़ के केन्द्रीय पुस्तकालय का उद्घाटन

सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में 23 करोड़ रुपये की लागत से केंद्रीय पुस्तकालय का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया यह वेस्ट यूपी की आधुनिक पुस्तकालय होगा। जिसमें वैज्ञानिक शिक्षक छात्र-छात्राएं आसानी के साथ अध्ययन कर सकेंगे। ये पुस्तकालय पूरी तरह से आधुनिक सिस्टम से तैयार किया गया है। पुस्तकालय में सभी बच्चों को अध्ययन करने में जहां आसानी होगी। वहीं सुरक्षा व्यवस्था के बीच व्यापक बंदोबस्त यहां किए गए हैं। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आरके मित्तल का कहना है कि ये वेस्ट यूपी की आधुनिक पुस्तकालय है जो 23 करोड़ रुपये की लागत से बनकर तैयार हुआ है। ये पूरी तरह से डिजिटल पुस्तकालय है।

एयरपोर्ट के लिये कार्य योजना, रिंग रोड की मिलेगी सौगात

भारतीय जनता पार्टी के संगठन की बैठक में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मेरठ में एयरपोर्ट के लिये कार्ययोजना बनाई जा रही है। रिंग रोड की सौगात भी मेरठ को मिलेगी। उन्होंने कहा कि गंगा एक्सप्रेस-वे का काम बहुत जल्द शुरु होने जा रहा है।

भारतीय जनता पार्टी पश्चिम क्षेत्र के कार्यालय हरमन सिटी बागपत रोड पर मेरठ कमिश्नरी के कार्यकर्ताओं की एक बैठक संपन्न हुई। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए उनसे समस्याएं पूछी।

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि पार्टी यहां बड़ी तपस्या से पहुंची है हम भारत माता को परम वैभव तक पहुंचाने के लिए कार्य कर रहे हैं सभी सामूहिकता से कार्य करें। प्रदेश अध्यक्ष ने सभी से अपने-अपने जनपद की आवश्यकताओं को लेकर जानकारी मुख्यमंत्री को देने को कहा।

जिसमें मेरठ महानगर के अध्यक्ष मुकेश सिंघल ने मेरठ में प्रस्तावित हवाई अड्डा और रिंग रोड बागपत के जिला अध्यक्ष ने छपरौली से हरियाणा को जोड़ने वाला पुल का कार्य लॉकडाउन के समय से बंद है वह फिर से शुरू कराने का एवं बागपत चीनी मिल की क्षमता बढ़ाई जाए इसी प्रकार नवनिर्वाचित शिक्षक विधान परिषद सदस्य श्रीचंद शर्मा ने वित्तविहीन शिक्षकों की मांगों को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा।

सभी जनपदों की आवश्यकता को मुख्यमंत्री ने सुनकर कहा की हमने पिछली कैबिनेट बैठक में प्रदेश में कुछ मेडिकल कॉलेज खोले जाने के प्रस्ताव को पास किया है। इसी में बुलंदशहर में मेडिकल कॉलेज का 12 से 15 दिन में शिलान्यास होने की संभावना है। एयरपोर्ट के लिए भी कार्य योजना बनाई जा रही है।

हमने बाढ़ से प्रभावित जनपदों के लिए जनवरी से कार्य शुरू करने को कहा है। जिससे हम मई-जून तक बाढ़ के रोकने संबंधी कार्य पूरा हो सके। गंगा एक्सप्रेस वे जल्द शुरू होगा इस समय उत्तर प्रदेश में कोई विधानसभा ऐसी नहीं है जिसमें कोई छोटी बड़ी परियोजना ना चल रही हो।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जितना पिछली सरकार में पांच साल में गन्ना किसानों का भुगतान नहीं कर पाती थी उतना हमने तीन वर्ष में किया है। आज उत्तर प्रदेश की खपत से दोगुनी चीनी हमारे पास उपलब्ध है। आजादी के बाद जितने कार्य हुए हैं उससे ज्यादा हमारे पिछले छह वर्षों में हमने कार्य किए हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्र की और प्रदेश की सभी योजनाओं की जानकारी आपके पास उपलब्ध होनी चाहिए। विधानसभा से कम से कम 100 लोगों का कार्य कराएं। मतदाता पुनरीक्षण अभियान में विधायक और सांसद पदाधिकारी सभी पूरी शक्ति से लगे और उसमें काम करें उसका लाभ मिलेगा समन्वय, संवाद और उपलब्धियों के आधार पर आप का आकलन होता है।

शुरुआत में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह प्रदेश सह संगठन महामंत्री कर्मवीर क्षेत्रीय अध्यक्ष मोहित बेनीवाल ने भारत माता के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्वलित किया इसके पश्चात वंदे मातरम का गान हुआ। बैठक की अध्यक्षता क्षेत्रीय अध्यक्ष मोहित बेनीवाल व संचालन क्षेत्रीय महामंत्री हरीश ठाकुर ने किया।

ये रहे मौजूद

बैठक में प्रदेश सह संगठन महामंत्री कर्मवीर सिंह, प्रदेश महामंत्री अश्वनी त्यागी, प्रदेश उपाध्यक्ष देवेंद्र सिंह, पंकज सिंह, सुनीता दयाल, प्रदेश मंत्री डा. चंद्र मोहन, केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह, संजीव बालियान मंत्री अतुल गर्ग, अनिल शर्मा, सांसद राजेंद्र अग्रवाल, भोला सिंह, पूर्व मंत्री व सांसद महेश शर्मा, विधायक दिनेश गोयल, सतवीर त्यागी, जितेंद्र सतवाई, सोमेंद्र तोमर, सत्य प्रकाश अग्रवाल, दिनेश खटीक, जिला अध्यक्ष अनुज राठी, मुकेश सिंघल, दिनेश सिंघल, संजीव शर्मा, उमेश राणा, अनिल सिसोदिया, क्षेत्र से हरिओम शर्मा विकास अग्रवाल, अंकुर राणा, इंद्रपाल प्रजापति, मयंक गोयल, गजेंद्र शर्मा इत्यादि रहे।

विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने का आह्वान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संगठन के पदाधिकारियों से कहा कि 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुट जाएं। सरकार की योजनाओं और उपलब्धियों को जनता के बीच पहुंचाए। बैठक में मुख्यमंत्री पंचायत चुनाव से लेकर विधानसभा 2022 के चुनाव की तैयारियों पर पश्चिम क्षेत्र के संगठन पदाधिकारियों के साथ करीब एक घंटे विचार-विमर्श हुआ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायत चुनाव भी सिर पर है और कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को इसके लिये अभी से सक्रिय हो जाना चाहिये। जब तक लोगों को सरकार की उपलब्धियां नहीं बताई जाएंगी तब तक लोग पार्टी से कैसे जुड़ पाएंगे। बैठक में कुल 71 पदाधिकारी ही मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments