Friday, March 5, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut हादसों का पर्याय बनी बागपत रोड

हादसों का पर्याय बनी बागपत रोड

- Advertisement -
0
  • जनवाणी में प्रकाशित खबर पर पीडब्ल्यूडी ऐक्शन में, ठेकेदार के रोके पांच लाख
  • अधिकारियों ने माना कि ठेकेदार ने मानक के अनुसार सड़क नहीं बनाई

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: बदहाल हो चुकी बागपत रोड को बनाने का काम जब शुरु हुआ तो लोगों को लगा कि बुरे दिन खत्म हो गए हैं और अब बागपत रोड एक नये अंदाज में दिखेगी। अफसोस ऐसा नहीं हुआ। प्रदेश सरकार की जीरो टालरेंस की नीति को दरकिनार करते हुए पीडब्लूडी के ठेकेदारों ने मलियाना पुल से लेकर ऋषिनगर तक एक साइड की सड़क घटिया तरीके से बनाई और 20 दिन में ही सड़क उखड़नी शुरु हो गई।

अब हालत यह हो गई है कि इस सड़क पर ढलान न बनाने के कारण आए दिन दुर्घटनाएं बढ़ रही है और शुक्रवार की शाम को एक ट्रैक्टर पर सवार युवक की दर्दनाक मौत हो गई। पीडब्ल्यूडी ने ठेकेदार के खिलाफ कार्यवाही करते हुए पांच लाख रुपये का पैमेंट रोक दिया है।

बागपत रोड पर सड़क का निर्माण कार्य चल रहा है। फुटबाल चौराहे से लेकर ऋषिनगर तक सड़क कई जगहों पर बनाई जा रही है तो कई जगहों पर पेचवर्क किये गए। किश्तों में बनाई जा रही सड़क के दोनों तरफ ढलान न बनाने के कारण आए दिन दो पहिया वाहन चालक घायल हो रहे है। ठेकेदार ने सड़क का एक हिस्सा बनाकर उसको भगवान भरोसे छोड़ दिया है।

जब दोपहिया या चार पहिया वाहन सड़क पर चढ़ने की कोशिश करता है तो अनियंत्रित होकर गिरकर बुरी तरह से चोटिल हो जाता है। बागपत रोड के कई नर्सिंग होमों और केएमसी में इस तरह से चोटिल होने वालों के भर्ती होेने की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

दरअसल ठेकेदार ने जिस तरह से सड़क बनाई है उसको लेकर सवाल उठाये जा रहे हैं। सड़क की ऊपरी परत टूट जाने के कारण वाहनों को जहां दिक्कतें आ रही है वहीं ढलाव न होने के कारण वाहन दुर्घटना का कारण बन रहे हैं। इस तरह की गड़बड़ियों के कारण दुर्घटनाएं लगातार बढ़ रही है।

शुक्रवार की शाम को साढ़े छह बजे के करीब मलियाना पुल की तरफ से आ रहे ट्रैक्टर का अगला पहिया इसी के कारण अनियंत्रित हो गया और ट्रैक्टर चालक के बगल में बैठा युवक पहिये के नीचे आ गया जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई।

पीडब्ल्यूडी के एक्सईएन अरविन्द सिंह ने बताया कि सड़क में गड़बड़ी की शिकायतें मिली है और इस कारण ठेकेदार के पांच लाख रुपये रोक दिये गए हैं। उन्होंने बताया कि नई बनी सड़क के दोनों तरफ तारकोल का ढलान बनाया जाएगा ताकि किसी को परेशानी न हो। जब तक तारकोल नहीं बिछ रहा तब तक मिट्टी का भराव करा दिया जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments