Sunday, July 25, 2021
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन कराया जाए: सीडीओ

ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन कराया जाए: सीडीओ

- Advertisement -
  • उद्योग की स्थापना को मिलेगा बैंकों से कर्ज

जनवाणी संवाददाता |

मुृजफ्फरनगर: जनपद में रोजगार को बढावा देने के लिए प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत खादी ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा ऋण दिलाया जा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव ने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि उत्तर प्रदेश खादी ग्रामोउद्योग बोर्ड द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम का क्रियान्वयन किया जा रहा है।

सीडीओ ने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत उद्यम की स्थापना के लिए अधिकतम रुपए 10 लाख व 25 लाख तक का ऋण बैंकों के माध्यम से दिलाये जाने का प्रावधान है। लाभार्थियों की प्रोजेक्ट कॉस्ट का 25 प्रतिशत( 8.75 लाख) तक का अनुदान दिये जाने की व्यवस्था अनुमन्य है। एवं ग्रामीण क्षेत्र में उघम स्थापना के उपरान्त 03 वर्ष तक 13 प्रतिशत अधिकतम ब्याज नियमानुसार लाभार्थी को प. दीन दयाल ग्रामोउघोग रोजगार योजना के अन्तर्गत प्रदान किये जाने की अतिरिक्त सुविधा राज्य सरकार द्वारा प्रदत्त की जा रही है।

उन्होने निर्देश दिये कि इस योजना में उघम की स्थापना करने वाले लाभार्थियों को बहुत अधिक लाभ प्रदान किया जा रहा है, जिसके कारण उघम की सफलता की संभावनाए अधिक है। ग्रामीण क्षेत्रों में उघम की स्थापना हेतु यह योजना काफी सार्थक एवं लाभप्रद है। ग्रामीण जन की सहभागिता अधिक से अधिक सुनिश्चत करने हेतु आवेदन पत्र पंजीकृत स्वंय सहायता समूह अथवा व्यक्तिगत उघमी के द्वारा योजना के अन्तर्गत आनलाईन आवेदन किये जाने हेतु योजना की वेबसाइट पर किया जा सकता है। आनलाईन आवेदन प्रक्रिया होने से यह योजना पूरी तरह से पारदर्शी है।

उन्होने सभी खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने अपने विकास खण्ड में उघम की स्थापना हेतु इच्छुक पंजीकृत स्वंय सहायता समूह अथवा व्यक्तिगत उघमी के ऋण आवदेन पत्र 30 जून 2021 तक आॅनलाईन पोर्टल पर एजेन्सी का चयन करते हुए आवेदन कराना सुनिश्चत करे, ताकि ग्रामीण स्तर पर अधिकाधिक रोजगार सृजन कराया जा सके।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments