Saturday, January 29, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliहरियाणा ने यूपी के किसानों का धान रोका, प्रदर्शन

हरियाणा ने यूपी के किसानों का धान रोका, प्रदर्शन

- Advertisement -
  • किसानों ने धान का वाजिब दाम दिलाने की मांग की
  • दिन-रात यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर खड़े रहे किसान

जनवाणी संवाददाता |

कैराना: कैराना क्षेत्र और अन्य जनपदों के दर्जनों किसान हरियाणा के पानीपत व सिंभालका मंडी में अपनी धान की फसल बेचने के लिए जा रहे थे। वहीं सोमवार की रात करीब डेढ बजे व मंगलवार सुबह करीब 9 बजे हरियाणा की सनौली पुलिस चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने यूपी की ओर से आने वाले धान से भरे वाहनों को वापस उत्तर प्रदेश की सीमा में वापस भेज दिया।

जिसके बाद ट्रैक्टर ट्रालियो में लदी धान की फसलों के साथ दर्जनों किसान यूपी हरियाणा बर्डर स्थित कैराना कोतवाली की यमुना ब्रिज पुलिस चौकी के पास खड़े हो गए। किसान तिरसपाल ने बताया कि वह कांधला क्षेत्र के गांव जसाला से करीब 30-35 कुंतल 1509 की किस्म की बारिक धान की फसल सिंभालका मंडी में बेचने के लिए जा रहा था। हरियाणा पुलिस द्वारा उसको कोई कारण नहीं बताया तथा वापस भेज दिया।

गढ़ी दौलत निवासी किसान अकरम ने बता कि उत्तर प्रदेश के किसी भी धान केंद्र पर न तो उनको यह बताया जा रहा है कि क्या भाव उनकी फसल ली जाएगी और न ही यह बताया जा रहा हैं कि कहां फसल बेचनी हैं। धान केंद्रों पर किसानों को कोई सुविधा नहीं मिल पा रही हैं। जिस कारण वें हरियाणा में अपना धान बेचना चाहते हैं। अन्य किसानो ने आरोप लगाये कि हरियाणा पुलिस ने उनको अपने वाहनों को वापस यूपी में ले जाने की चेतावनी दी।

वापस न जाने पर थाने में बंद करने की धमकी भी दी। किसान नितिन ने बताया कि वह मुजफ्फरनगर जनपद के गांव गोयला से करीब 50 कुंतल बारिक मुंजी लेकर आया था। रात करीब डेढ बजे हरियाणा पुलिस ने उसको भी वापस कर दिया। किसान ने बताया कि उसे पानीपत स्थित मंडी में अपनी मुंजी बेचनी है। इसके अलावा दर्जनों किसान यूपी की ओर अपने वाहनों के साथ दिनभर खड़े रहें।

किसानों ने नारेबाजी कर धान की फसल का वाजिब दाम दिलाने व धान की फसलों को हरियाणा की मंडियों में बेचने की मांग की। हरियाणा की सनौली पुलिस चौकी पर तैनात हैड कांस्टेबल सज्जान कुमार ने बताया कि एसएचओ सनौली के आदेश के बाद यूपी से आने वाले धान की फसलों के वाहनों को रोका गया है। जिसके बाद सनौली एसएचओ नवीन कुमार ने बताया कि पानीपत के डीसी के आदेश के बाद वाहनों को हरियाणा में जाने से रोका जा रहा हैं।

मार्केटिंग इंस्पेक्टर ने यूपी में बेचने का किया आग्रह

किसानों द्वारा धान की फसल हरियाणा की मंडियों में बेचने को लेकर किसान यूपी हरियाणा बॉर्डर पर खड़े हो गए। जिसके बाद मार्केटिंग इंस्पेक्टर सुशील साहू कानूनगो व पटवारी के साथ यूपी हरियाणा बॉर्डर पर पहुंचे तथा किसानों की फसल के सैंपल लेकर उनको कैराना के धान केंद्रों पर फसल बेचने की अपील की, लेकिन किसान ने कहा कि हरियाणा में उनकी फसल अधिक दाम पर बिक रही हैं, जबकि यूपी में फसल का वाजिब दाम नहीं मिल पा रहा हैं।

जिस कारण वें अपनी धान की फसल हरियाणा में बेचना चाहते हैं। मार्केटिंग इंस्पेक्टर ने बताया कि 31 जनवरी तक धान की फसल की खरीद की जाएगी। उनके सभी सात क्रय केंद्र क्रियाशील हैं। किसान केंद्र पर आए। अपना रजिस्ट्रेशन व सैंपल दिखाकर टोकन कटवाकर अपनी धान की फसल बेच सकते हैं। वहीं उन्होंने कहा कि उनके द्वारा 1940 रुपये में धान की फसल खरीदी जा रहीं हैं, जबकि हरियाणा में 1975 रुपए में खरीदी जा रहीं हैं। केवल धान के दामों में अंतर होने के कारण ही किसान हरियाणा में अपना धान बेचने जाते हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments