Thursday, February 25, 2021
Advertisment Booking
Home Uttar Pradesh News Meerut यातायात माह और चौराहों का ये हाल

यातायात माह और चौराहों का ये हाल

- Advertisement -
+1
  • यातायात माह के प्रति ये कैसी जागरूकता ? यातायात माह का पुलिस अधिकारियों ने किया शुभारंम्भ

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: यातायात नियमों के प्रति जागरूकता को लेकर रविवार को यातायात माह का शुभारंभ किया गया। पुलिस लाइन से एसपी ट्रैफिक जितेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, एसपी देहात अविनाश पांडे, एसपी सिटी अन्य अधिकारियों ने जागरूकता के तहत वाहनों को हरी झंडी देकर रवाना किया।

हालांकि महानगर के चौराहों और यातायात व्यवस्था की बात की जाए तो ऐसा कुछ नहीं लगा जो बदला हो। चौराहों की ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए पुलिस कर्मी की तैनाती होनी चाहिए थी, मगर चौराहों से ट्रैफिक पुलिस कर्मी नदारद दिखे। ये हाल है यातायात माह के प्रथम दिन का। वास्तविकता तो यही है, मगर आला अफसर आंखें मूंदे हुए हैं। त्योहारों के चलते ट्रैफिक बेपटरी हो रहा है, मगर इसकी चिंता किसी को नहीं है।

महानगर के तमाम इलाकों में पुलिस खासकर यातायात पुलिस की वाहनों से उगाही आज भी जारी रही। हां, शुरूआत हादसे में एक साइकिल चालक की मौत के रूप में हुई। यातायात माह की शुरूआत ही जब सड़क हादसे में एक साइकिल चालक की मौत से हो तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि किस प्रकार की तैयारियां हैं और इसका अंजाम कैसा होने वाला है ?

यातायात माह के दौरान महानगर के तमाम उन चौराहों पर जहां वाहनों से उगाही की जाती है, जो पैसा नहीं दे पाते उनके चालान कर दिए जाते हैं। गाड़ी सील कर दी जाती है। यदि एक माह के लिए पुलिस इस प्रकार के अभियान को विराम दे दे तो यातायात माह का शहर के लोगों को इससे बड़ा गिफ्ट नहीं हो सकता।

इसके अलावा महानगर के जिन प्रमुख बाजारों में अवैध कब्जों की वजह से दिन भर रास्ता जाम रहता है। वाहन सिसक सिसक कर आगे बढ़ते हैं, यदि ऐसे बाजारों को जाम से मुक्त कर दिया जाए तो भी यातायात माह को लंबे अरसे तक याद किया जाएगा। इसके अलावा बेगमपुल चौराहा सरीखे महानगर के तमाम ठेले वालों से की जाने वाली पुलिस की उगाही पर एक माह के लिए विराम लगा दिया जाए तो भी यह आयोजन अनूठा होगा।

क्योंकि जब ठेलों से उगाही नहीं होगी तो फिर ठेले लगने नहीं दिए जाएंगे। ठेले सड़कों पर नहीं लगेंगे तो जाम भी नहीं लगेगा। हालांकि यह भी उचित नहीं कि जिनके घर का चूल्हा ही ठेला लगने के बाद जलता हो उस पर ही पानी डाल दिया जाए। ठेले लगे, लेकिन सलीके से। उनसे जाम न लगे।

वहीं, दूसरी ओर यातायात माह के तहत निकाली गयी रैली शहर के कई इलाकों से होकर गुजरी। तमाम अफसर इसमें शामिल हुए। जागरूकता को लेकर निकले वाहन पुलिस लाइन से होते हुए अम्बेडकर चौराहे, जीरो माइल, बेगमपुल, भैंसाली बस अड्डे, शारदा रोड, हापुड़ अड्डे, एल ब्लॉक, जेलचुंगी होकर वापस पुलिस लाइन पहुंचे।

रैली में ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के साथ ट्रैफिक विभाग के गार्ड और आॅटो ड्राइवर भी शामिल रहे। एसपी टैÑफिक जितेन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि यातायात नियमों का पालन हम सिर्फ कार्रवाई से बचने के लिए न करें। यातायात नियमों का पालन हम अपने लिए करें।

इससे न सिर्फ हम सुरक्षित रहेंगे वरन दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे। तीन सवारी, सीट बेल्ट, हेलमेट, स्पीड पूरे माह अभियान चलाया जाएगा। ऐसे में यातायात माह में हम संकल्प लें कि हम सब यातायात नियमों का शत-प्रतिशत पालन करेंगे। कार्यक्रम में एएसपी डा. ईरज रजा, कृष्ण विश्नोई, सीओ कोतवाली अरविंद कुमार चौरसिया, अमित कुमार राय, संजीव दीक्षित, सीएफओ संतोष कुमार, टीआई दीनदयाल दीक्षित, बीएस सिंह समेत तमाम पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments