Wednesday, May 12, 2021
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutअपनों ने मुंह मोड़ा, मुस्लिम समाज ने दिया कंधा

अपनों ने मुंह मोड़ा, मुस्लिम समाज ने दिया कंधा

- Advertisement -
0
  • रामनगर में एक महिला की अर्थी को मुस्लिम समाज के लोगों ने दिया कंधा
  • रिश्तेदारों व परिवार के लोगों के मना करने पर आगे आया मुस्लिम समाज

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: कोरोना माहमारी में जहां इंसानियत शर्मसार हो रही है, वहीं कुछ लोग जाति व धर्म का भेदभाव दूर कर आगे आकर एकता की मिसाल कायम कर रहे है। ऐसा ही एक मामला बुधवार को थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र के रामनगर में देखने को मिला। जहां पर एक महिला ने लंबे समय बीमार होने के चलते दम तोड़ दिया।

परिजनों ने अंतिम संस्कार के लिए महिला की अर्थी को तैयार कर दिया। लेकिन सगे संबंधियों व रिश्तेदारों ने अर्थी को कंधा देने से साफ इनकार कर दिया। जिसके बाद पड़ोस में ही रहने वाले मुस्लिम समाज के लोग आगे आए और महिला की अर्थी को कंधा देने के साथ ही उसका अंतिम संस्कार भी कराया।

गौरतलब है कि लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के रामनगर मोहल्ले की रहने वाली सुषमा अग्रवाल लंबे समय से बीमार चल रही थी। इसके अलावा सुषमा के घर में पति व एक छोटा बेटा है। बीमारी के चलते सुषमा ने बुधवार दोपहर को दम तोड़ दिया। परिजनों ने सुषमा की मौत की जानकारी सगे संबंधियों व रिश्तेदारों को दी।

इसके बाद परिजनों ने सुषमा की अर्थी तैयार कर दी। अर्थी के तैयार होने पर वहां मौजूद सगे-संबंधी व रिश्तेदार कंधा देने के लिए एक-दूसरे को देखने लगे। काफी देर तक भी जब कोई अर्थी को कंधा देने के लिए आगे नहीं आया तो परिवार की महिलाओं ने पड़ोस में ही रहने वाले मुस्लिम समाज के लोगों को कंधा देने के लिए कहा।

जिसके बाद मुस्लिम समाज के दर्जनों युवा वहां पहुंचे और जाति व धर्म का भेदभाव भूलकर सुषमा की अर्थी को कंधा दिया। इसके बाद सूरजकुंड पर सुषमा की अर्थी को ले जाकर पूरे विधि-विधान से महिला का अंतिम संस्कार कराया।

दाह संस्कार के लिए अवैध वसूली करने पर हंगामा

शेरगढ़ी स्थित श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के लिए अवैध वसूली करनो को लेकर हंगामा हुआ। दरअसल, मेडिकल थाना क्षेत्र के शमशान घाट में अंतिम संस्कार के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। जिसमें मृतकों के परिजनों से अंतिम संस्कार कराने को लेकर मोटी वूसली की जा रही है। ऐसे में बुधवार को श्मशान घाट संरक्षक की लोगों ने जमकर पिटाई कर दी।

गौरतलब है कि संक्रमण काल में शहर के श्मशान घाटों में शवों की काफी संख्या इन दिनों देखी जा रही हैं। जिस कारण शवदाह स्थलों की भी कमी हो रही है। ऐसे में कई जगहों पर जमीन पर अंतिम संस्कार कराना पड़ रहा है। वही, इसका गलत फायदा कुछ जगहों पर उठाया जा रहा है। ऐसा ही मामला बुधवार को सामने आया। शेरगढ़ी स्थित श्मशान घाट पर दाह संस्कार के नाम अवैध वसूली की शिकायते स्थानीय लोगों को हो रही हैं।

जिसको लेकर चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के छात्र नेता विनीत चपराणा ने स्थानीय लोगों की शिकायत पर अपने समर्थकों के साथ पहुंचकर वहां के संरक्षक की पिटाई कर दी। लोगों का कहना है कि श्मशान पर अंतिम संस्कार के नाम पर परिजनों से हजारों रुपये लिए जा रहे हैं। जिसका कई लोगों द्वारा विरोध किया जा रहा है। इस मौके पर विजय बहादुर, प्रमोद शेरगढ़ी आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

+1
0

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

- Advertisment -

Recent Comments