Wednesday, January 26, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsShamliकृषि कानून के खिलाफ अफवाह फैला रहा विपक्ष: अजित पाल

कृषि कानून के खिलाफ अफवाह फैला रहा विपक्ष: अजित पाल

- Advertisement -
  • अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म दिन सुशासन दिवस के रूप में मनाया
  • ब्लॉक स्तर पर कृषि सुदृढीकरण एवं जागरूकता कार्यक्रम आयोजित

जनवाणी टीम |

शामली/थानाभवन: प्रदेश के इलेक्ट्रोनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के राज्यमंत्री तथा जनपद के प्रभारी मंत्री अजीत सिंह पाल ने कहा कि नए कृषि कानून किसान हितैषी हैं लेकिन कुछ लोग कृषि कानून के खिलाफ गलत अफवाह फैलाकर कानून को किसान विरोधी बता रहे हैं। इस कानून के जरिए देश की एक हजार मंडियों को आनलाइन जोड़ा गया है। साथ ही, देश के डेढ़ करोड़ किसानों को क्रेडिट कार्ड का लाभ दिया गया है।

शुक्रवार को राज्यमंत्री अजीत सिंह पाल थानाभवन खंड विकास कार्यालय परिसर में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर आयोजित अटल सुशासन दिवस पर कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। सूचना तंत्र के सुदृढीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत कृषि मेला, कृषि गोष्टी तथा प्रदर्शनी में बोलते हुए प्रभारी मंत्री ने प्रदेश में क्रियान्वित विभिन्न योजनाओं एवम उपलब्धियों की जानकारी दी।

कार्यक्रम में डीडी नेशनल चैनल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लाइव प्रसारण किसानों को सुनाया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने देश के 9 करोड़ किसान परिवारों को 18000 करोड़ रुपये की किसान सम्मान निधि की नई किश्त का हस्तांतरण किया गया। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में कृषि बिल को किसान हितैषी बताते हुए कहा कि कुछ लोग किसान कानून के खिलाफ गलत अफवाह फैला रहे हैं।

नए कृषि कानून में किसान अपनी फसल कहीं भी बेच सकता है। हमने देश मे एमएसपी को डेढ़ गुना तक बढ़ाया है। नए कृषि कानून से किसी की भी भूमि पूंजीपतियों के हाथ नहीं जाएगी। उन्होंने कहा कि पंजाब के किसानों को गुमराह किया जा रहा है। प्रभारी मंत्री अजीत सिंह पाल ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जीवन शैली पर प्रकाश डाला।

इस अवसर जिलाधिकारी जसजीत कौर, पुलिस अधीक्षक सुकीर्ति माधव, सीडीओ शभू नाथ तिवारी, उप कृषि निदेशक डा. शिव कुमार केसरी, एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव, बीडीओ डा. पंकज कुमार, पवन तरार, आंनद पुंडीर, राकेश राणा, नरेंद त्यागी, प्रेमचंद, अनुज संगल आदि मौजूद रहे।

वीरेंद्र सिंह ने नए कृषि कानूनों के फायदे गिनाए

कैराना खंड विकस कार्यालय पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन अटल सुशासन दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि पूर्व कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र सिंह ने नए कृषि कानूनों के फायदे गिनाए। इस दौरान डीडी नेशनल चैनल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लाइव प्रसारण किसानों को सुनाया गया।

जिसमें प्रधानमंत्री ने अलग-अलग प्रदेशों के किसानों से बातचीत की। साथ ही, पीएम किसान सम्मान निधि की राशि के उपयोग के बारे में जानकारी ली। प्रधानमंत्री ने कृषि कानूनों पर फैलाए जा रहें गलत एजेंडे में न आने की अपील की।

दूसरी ओर, कलस्यान चौपाल, गांव तीतरवाड़ा तथा भूरा में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा किसान मोर्चा के पूर्व क्षेत्रीय उपाध्यक्ष अनिल चौहान ने किसानों की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों के लिए पीएम किसान निधि योजना चलाई हैं।

जिससे करोडों किसानों को फायदा पहुंच रहा हैं। उन्होंने किसानों से कहा कि वह विपक्षी एवं कुछ लोगों द्वारा कृषि कानूनों पर फैलाए जा रहे भ्रम में न आएं और कृषि क्षेत्र में उन्नति कर देश को आगे बढ़ाने में अपना योगदान दें।

कलस्यान चौपाल पर बैठक में कॉपरेटिव बैंक के उप महाप्रबंधक अख्तर अली, बैंक प्रबंधक आशीष सिंह, बार एसोसिएशन अध्यक्ष अशोक कुमार, जगदीश चौहान, यशपाल सिंह, प्रभु, संदीप प्रधान, राजकुमार चौहान, मेहताब, नसीम व नितिन आदि मौजूद रहें।

भाजपा ने किसानों को हमेशा दिया सम्मान: प्रसन्न

कांधला खंड विकास कार्यालय के प्रांगण में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती भाजपा ने सुशासन दिवस के रूप में मनाने के साथ ही कृषि सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के अंर्तगत कृषि मेला, कृषक गोष्ठी एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि जिला पंचायत अध्यक्षपति प्रसन्न चौधरी ने अपने संबोधन में कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 18 करोड़ की नई किस्त 9 करोड़ किसानों के खाते में भेजी गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटाकर कश्मीर के पंडितों को न्याय दिलाने का काम किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिले में सड़कों का जाल बिछाने के साथ ही गौ कटान पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया। कार्यक्रम में किसानों को पटका तथा महिलाओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

इस दौरान ब्लाक प्रमुख हरविंदर चौधरी, भाजपा नेता नरेश सैनी, संजीव मलिक, नीरज मलिक, संदीप पंवार, राजपाल सिंह प्राान, पप्पू सहित आदि मौजूद रहे।

विपक्ष किसानों को बरगला रहा: प्रदीप चौधरी

ऊन ब्लॉक कार्यालय पर अटल सुशासन दिवस एवं कृषि सूचना सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत किसान मेले का शुभारम्भ सांसद प्रदीप चौधरी ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया। इस अवसर सांसद ने सरकारी योजनाओं एवं कृषि कानूनों की जानकारी किसानों को देते हुए सरकार द्वारा कराए गए विकास कार्यों का बखान किया।

मुख्य अतिथि सांसद प्रदीप चौधरी ने कहा कि मैं भी किसान परिवार से हूं। क्षेत्र में धान, गन्ना, गेहूं अधिक मात्रा में उगाया जाता है। सरकार द्वारा गन्ना किसानों के लिए समय पर चीनी मिलें चलाई गई। भंगतान के लिए बजट में प्रावधान कर कराने का प्रयास किया गया।

धान व गेहूं का भंडारण अधिक मात्रा में होने के कारण सरकार ने व्यवस्था में परिवर्तन करने के लिए तीनों कृषि कानून बनाए हैं। कानूनों में कुछ लोग किसानों को बरगला कर दुष्प्रचार कर रहे हैं। कानूनों में भूमि बंधक का कोई प्रावधान नहीं है, एमएसपी जारी रहेगी। किसान की सहमति से ही कॉट्रेक्ट किया जाएगा तथा 3 दिन के अंदर फसल का भुगतान कराने का प्रावधान है।

सरकार बातचीत के जरिए हल करना चाहती है लेकिन कुछ भ्रमित लोग किसानों को बरगला रहे हैं। कार्यक्रम में गांव में बनाए गए सार्वजनिक शौचालय की देखरेख के लिए आठ स्वंय सहायता समूह को सांसद द्वारा प्रमाण पत्र दिए गए। इसके अलावा कृषि मंत्री द्वारा जारी पत्र भी बांटा गया।

बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों का संबोधन एलइडी स्क्रीन के द्वारा सुना गया। मेले में कृषि विभाग, गन्ना विभाग, कृषि रक्षा इकाई द्वारा पंडाल लगाकर किसानों को फसलों की पैदावार तथा कीटों से बचाव की जानकारी दी गई।

कार्यक्रम में उप जिलाधिकारी मणि अरोरा, जिला उद्यान अधिकारी डा. हरित कुमार, परियोजना अधिकारी ज्ञानेश्वर तिवारी, जसवीर सिंह, बंटी तोमर, डा. गजराज, रवि गोयल, अशोक राणा, निमिष कुमार, राजकुमार शर्मा, सुशील गर्ग आदि शामिल रहे।

विरोध की संभावना पर पुलिस बल तैनात

ऊन में प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती भाजपा ने सुशासन दिवस के रूप में मनाने के साथ ही कृषि सुदृढ़ीकरण एवं कृषक जागरूकता कार्यक्रम के अंर्तगत कृषि मेला, कृषक गोष्ठी एवं प्रदर्शनी के दौरान नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के विरोध को देखते हुए हर ब्लॉक पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। ऊन ब्लॉक पर सीओ कैराना जितेंद्र कुमार, एसओ झिंझाना सर्वेश सिंह, ऊन व चौसाना चौकी प्रभारी मय फोर्स के मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments