Monday, October 25, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutघरों से उठने वाले कूड़े से तैयार होगा जैविक खाद

घरों से उठने वाले कूड़े से तैयार होगा जैविक खाद

- Advertisement -
  • निगम की तैयारी, शहर के बाहरी क्षेत्र में बना है डम्पिंग ग्राउंड
  • निगम को प्लांट लगने से होगा फायदा

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: शहर से उठने वाला कूड़ा अब दुर्गंध नहीं बल्कि सोना उगलेगा। शहर में लगने वाला सालिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट का काम लगभग पूरा होने को है। शहर के बाहरी क्षेत्रों में डम्पिंग ग्राउंड बनाकर यहां पर शहर से उठने वाला कूड़ा महीनों पहले एकत्र करना शुरू कर दिया गया था। अब इस कूडेÞ से खाद बनाकर बेचने की योजना विभाग तैयार कर रहा है। इसके लिए विभाग ने तैयारी भी शुरू कर दी है।

इस प्लांट लगने से शहर की जनता को सबसे ज्यादा राहत मिलेगी। शहर का पूरा कूड़ा शहर से दूर लोहियानगर और जाहिदपुर के बीच बने डम्पिंग ग्राउंड में एकत्र किया जा रहा है। अब जब इस कूड़े से खाद बनायी जाएगी तो शहर का कूड़ा हर हाल में प्लांट तक पहुंचाया जाएगा। अब आपको आने वाले दिनों में शहर में कूड़ेÞ के ढेर नहीं दिखेंगे। यह जन स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर होगा।

इसके साथ ही किसानों को भी खेती के लिए जैविक खाद मिल सकेगी। नगर निगम कूड़ा निस्तारण के लिए पैसा खर्च करना पड़ता था। जब विभाग प्लांट तैयार कर लेगा तो इस समस्या का भी समाधान होगा खर्च भी बचेगा और जो खर्च होने वाला पैसा है। वह शहर के विकास कार्यों में खर्च होगा। अब निगम को यह कूड़ा प्लांट तक पहुंचाना होगा। बाकी का काम जो संस्था प्लाट लगा रही है उसका होगा।

सुबह शाम उठेगा कूड़ा

शहर में अभी सुबह के समय ही निगम की गाडियां घर घर से कूड़ा उठाने के लिए आती है, लेकिन अब यह गाड़ियां जो घर-घर से कूड़ा उठाती है। वह अब सुबह और शाम दोनों समय कूड़ा उठाकर डम्पिंग ग्राउंड तक पहुंचाएगी। बता दें कि निगम के पास पर्याप्त वाहन है, लेकिन विभाग और अन्य वाहन हायर करेगा।

कार्यदायी संस्थाएं बेचेगी खाद

अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बता किया कूड़े से जो खाद तैयार की जाएगी उस शहर में काम कर रही कार्यदायी संस्थाओं को दिया जाएगा जो खाद बेचने का काम करेगी। कम्पनी के द्वारा कूड़े की खाद बनाकर किसानों को बेचा जाएगा। जानकारी देते हुए बताया कि जो कम्पनी प्लांट लगाएगी जो आय होगी वह भी कम्पनी की होगी। निगम की ओर से कम्पनी को कोई पैसा नहीं दिया जाएगा।

अधिकारियों का कहना

निगम के सर्वे के अनुसार शहर में रोजाना करीब 700 मीट्रिक टन कूड़ा एकत्र होता है। पहले यह कूड़ा जला दिया जाता था, लेकिन प्लांट बनने से शहर भी कूड़ा मुक्त होगा और शहर स्मार्ट हो जाएगा। इस प्लांट के लग जाने से शहर की जनता को जगह-जगह कूड़े के ढेर नहीं दिखेंगे। कूड़े से खाद तैयार करने की योजना अच्छी है और निगम के लिए फायदा का सौदा है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments