Wednesday, December 1, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliप्रधानों का कार्यकाल पूर्ण, एडीओ में निहित हुए अधिकार

प्रधानों का कार्यकाल पूर्ण, एडीओ में निहित हुए अधिकार

- Advertisement -
  • जनपद में 230 पंचायतों की बागड़ोर संभालेंगे 15 एडीओ
  • प्रशासक नियुक्ति को अपर मुख्य सचिव ने डीएम किए अधिकृत

जनवाणी ब्यूरो |

शामली: उप्र में ग्राम पंचायतों में ग्राम प्रधान का कार्यकाल शुक्रवार को पूर्ण हो गया। इसके साथ पंचायती राज अनुभाग-3 के मुख्य अपर सचिव मनोज कुमार सिंह ने जिलाधिकारियों को ग्राम पंचायतों में सहायक विकास अधिकारी को प्रशासक नियुक्त करने के लिए अधिकृत कर दिया। जिलाधिकारी द्वारा शनिवार को प्रशासक नियुक्त करने के आदेश जारी किए जाने की संभावना है।

उप्र में ग्राम पंचायतों का कार्यकाल 25 दिसंबर शुक्रवार को पूरा हो गया। इसके साथ ही जनपद शामली में 230 की ग्राम पंचायत, उसके प्रधान और उसकी समितियों की समस्त शक्तियां, कृत्य और कर्तव्य अब प्रशासक के रूप में सहायक विकास अधिकारी में निहित होंगे।

प्रशासक द्वारा ग्राम पंचायत, प्रधान तथा समितियों की समस्त शक्तियों का संपादन और निर्वहन किया जाएगा। प्रशासक इन शक्तियों का प्रयोग नई ग्राम पंचायत के गठन, प्रधान के निर्वाचित होने तथा समितियों के गठन होने तक या फिर अधिकतम छह माह तक कर सकेेंगे। इस दौरान अगर चुनाव नहीं होते तो फिर छह माह और के लिए प्रशासक ही जिम्मेदारी संभालेंगे।

दूसरी ओर, जिला पंचायत राज अधिकारी आलोक शर्मा ने बताया कि अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह के आदेश गुरुवार की देर शाम प्राप्त हुए हैं। आदेश में सहायक विकास अधिकारी को प्रशासक के रूप में नियुक्त किए जाने के लिए जिलाधिकारी को अधिकृत किया गया है। शुक्रवार को अवकाश के चलते संभावना है कि जिलाधिकारी द्वारा शनिवार को प्रशासक नियुक्त करने से संबंधित आदेश जारी किए जाएं।

बता दें, जनपद शामली के 5 विकास खंडों की 230 ग्राम पंचायतों में सिर्फ 15 सहायक विकास अधिकारी हैं। ऐसे में एक एडीओ के कंधों पर करीब 16 ग्राम पंचायतों का भार आएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments