Friday, January 27, 2023
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसभी जिलों में मुख्यालय से होगी प्रश्न पत्रों की निगरानी

सभी जिलों में मुख्यालय से होगी प्रश्न पत्रों की निगरानी

- Advertisement -
  • प्रश्न पत्र रखने वाले कमरों में लगे कैमरे को जोड़ा जाएगा मुख्यालय से
  • यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक ने केंद्र व्यवस्थापकओं को जारी किए निर्देश

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: डीएन इंटर कॉलेज में गुरुवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यूपी बोर्ड वर्ष 2023 की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार की अध्यक्षता में केंद्र व्यवस्थापकओं की एक बैठक आयोजित की गई। सर्वप्रथम विद्यालय के प्रधानाचार्य सुशील सिंह ने जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार का माल्यार्पण कर स्वागत किया।

उसके उपरांत सह जिला विद्यालय निरीक्षक ऋतु तोमर को पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत एवं सम्मान किया गया। बैठक में 105 जनपद के केंद्र व्यवस्थापको ने प्रतिभाग किया। वर्ष 2023 में होने वाली परीक्षा में सह जिला विद्यालय निरीक्षक रितु तोमर ने बताया की परीक्षा केंद्र परिसर के अंदर परीक्षार्थी को पाठ्य सामग्री ले जाने की कोई अनुमति नहीं दी जाएगी। मुख्य द्वार पर ही परीक्षार्थियों की तलाशी ली जाएगी।

छात्राओं की तलाशी केवल महिला शिक्षिका ही ले सकती हैं, इसके लिए सख्त निर्देश निर्गत किए गए। विद्यालय स्तर पर गठित सचल दल में कम से कम तीन सदस्य जिसमें एक महिला शिक्षिका का होना अनिवार्य है। परीक्षा केंद्र परिसर के अंदर स्मार्टफोन इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आदि पाए जाने पर अनुचित साधन माना जाएगा। उच्च न्यायालय इलाहाबाद द्वारा आदेश दिए गए हैं कि निरीक्षण के लिए सचल दल में महिला निरीक्षण करता अनिवार्य रूप से उपलब्ध होनी चाहिए।

प्रत्येक दशा में समस्त केंद्रों पर नकल विहीन परीक्षा कराई जाना अनिवार्य है। उसके उपरांत जिला विद्यालय निरीक्षक राजेश कुमार ने बताया कि प्रश्न पत्रों जिस कक्ष में रखा जाएगा उस कक्ष में तीन कैमरे उत्तर प्रदेश शासन के द्वारा लगाए जाएंगे, जिसकी निगरानी निरंतर रूप से लखनऊ इलाहाबाद तथा जनपद मुख्यालय से बनी रहेगी। प्रश्न पत्रों को रखने के लिए हाईस्कूल तथा इंटरमीडिएट के लिए 2-2 अलमारी डबल लोक होना अनिवार्य है।

इस बार उत्तर पुस्तिकाएं भी डबल लोक में रखी जाएंगी, जिसकी चाबी तथा निगरानी का दायित्व सीसीटीवी के साथ-साथ प्रधानाचार्य का होगा। जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया प्रश्न पत्रों के रखरखाव या किसी भी केंद्र पर नकल इत्यादि की कोई सूचना प्राप्त करने पर तत्काल केंद्र व्यवस्थापक पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। नकल विहीन परीक्षा कराने में सभी का सहयोग अपेक्षित है अन्यथा की दशा में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

वहीं, जो केंद्र व्यवस्थापक बैठक में उपस्थित रहे जिला विद्यालय निरीक्षक ने उनके वेतन आहरण पर रोक लगाने के आदेश निर्गत कर दिए है। बैठक का संचालन डॉ. मेघराज सिंह ने किया। बैठक में मुख्य रूप से डॉ. वीर बहादुर सिंह, पारुल वर्मा ,आशा चौधरी, रीता जोशी, डॉ. मनु भारद्वाज, डॉ. नीरा तोमर, बीपी सिंह, डॉ. रोहिताश, डॉ. आरके सिंह, पवन शर्मा, जयप्रकाश शर्मा, आशीष इत्यादि का विशेष सहयोग रहा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments