Wednesday, October 27, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsShamliअध्यापक प्रेरक का कार्य कर बन सकते हैं रोल मॉडल

अध्यापक प्रेरक का कार्य कर बन सकते हैं रोल मॉडल

- Advertisement -

न्याय पंचायत टिटौली के शिक्षकों की संकुल बैठक

शामली। शिक्षकों ने संकुल बैठक के दौरान अपने अनुभव और नवाचार साझा करते हुए कहा कि अध्यापक स्वयं प्रेरक का कार्य कर बच्चों के लिए रोल मॉडल बन सकते हैं।

सोमवार को कैराना ब्लॉक के गांव मुंडेट कलां स्थित प्राथमिक विद्यालय नंबर एक में न्याय पंचायत टिटौली के समस्त शिक्षक संकुल एवं प्रधानाध्यापकों की बैठक का आयोजन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए किया गया। इस दौरान प्रेरणा लक्ष्य, प्रेरणा तालिका, प्रेरणा, सूची, दीक्षा एप, रीड एलोंग एप की जानकारी दी गई।

बैठक की अध्यक्षता एसआरजी प्रवीण कुमार शर्मा ने अध्यापकों में नई ऊर्जा का संचार कर करते हुए अपने अनुभव और नवाचारों को साझा किया। प्रभारी गजानंद एआरपी ने शिक्षण योजना के बारे में विस्तृत जानकारी दी। बैठक का संचालन करते हुए शिक्षक संकुल रश्मि वर्मा ने प्रेरक स्कूल की भूमिका के बारे में अध्यापकों के कार्य तथा शासन की योजनाओं के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि अध्यापक स्वयं में प्रेरक का कार्य कर बच्चों के लिए रोल मॉडल बन सकते हैं।बैठक में उपस्थित शिक्षक संकुलों एवं प्रधानाध्यापकों ने प्रेरक स्कूल बनाने के लिए अपने उत्कृष्ट विचार एवं कार्य योजना का आदान-प्रदान किया।
बैठक में रश्मि वर्मा, अजय वर्मा, अनिमेष, दीपक, सोनिया शिक्षक संकुल आदि ने अपने-अपने विचारों से सभी को प्रोत्साहित किया। बैठक में टिटौली, बधैव, मुंडेट कला व खुर्द, कसेरवा कला व खुर्द, बुधपुरा, गाजीपुर के प्राथमिक एवं जूनियर हाई स्कूलों के प्रधानाध्यापकों ने प्रतिभाग किया।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments