Tuesday, August 9, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttarakhand NewsHaridwarआतंकी पत्र भेजकर जान से मारने की धमकी, कविता के रूप में...

आतंकी पत्र भेजकर जान से मारने की धमकी, कविता के रूप में लिखा पत्र मुकदमा दर्ज  

- Advertisement -
  • पत्र में देश के कई दलों के बडे नेताओं का नाम भी शामिल हैं
  • जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी राज राजराजेश्वराश्रम संघ से जुड़े हुए वरिष्ठ संत 
  • कनखल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।
  • पहले भी 2008 में इस तरह के धमकी भरे पत्र मिल चुके हैं
  • अगर मर भी जाऊं तो कोई बात नहीं है हमारे यहां तो पुनर्जन्म होता है 

जनवाणी ब्यूरो 

हरिद्वार:  संघ और भाजपा से जुडे जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी राजराजेश्वराश्रम को चिट्ठी के जरिए धमकी भरा पत्र मिला है। पत्र हिंदी में लिखा गया जिसमे धमकी कविता के रूप में लिखी गई है। पत्र के अंत में तालिबान लिखा है। जिसके बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

पत्र में देश के कई दलों के बडे नेताओं का नाम भी शामिल हैं। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार ने बताया कि प. पोस्ट से आया है और ये किसी की शरारत लग रही है। जिसके बाद मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा। एक टीम इसमें लगा दी गई है।

धर्मनगरी हरिद्वार के कनखल स्थित जगतगुरु आश्रम के पीठाधीश्वर जगदगुरु राज राजेश्वराश्रम को तालिबान ने आतंकी पत्र भेजकर जान से मारने की धमकी दी है। स्वामी राज राजराजेश्वराश्रम संघ से जुड़े हुए वरिष्ठ संत हैं। उनको तालिबान से मिली धमकी के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। कनखल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

आतंकी संगठन तालिबान द्वारा भेजे गए आतंकी पत्र पर जगदगुरु राज राजेश्वराश्रम महाराज ने कहा कि उन्हें पहले भी एक बार इस तरह की धमकी भरा पत्र मिल चुका है। यह पत्र तालिबान ने भेजा है, उन्होंने कहा कि मुस्लिम आतंकवाद से पूरा विश्व परेशान है और मैं प्रारंभ से ही हिंदुत्व को लेकर देशभर में बोलता रहा हूँ |

इसलिए उनके संज्ञान में आया कि ऐसे व्यक्ति को डराया जाए और रास्ते से हटाया जाए, इस तरह की धमकी मुझे पहले भी मिलती रही है, इन धमकियों से मुझ पर कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है जिस तरह से मैं हिंदुत्व और राष्ट्रवाद का एजेंडा लेकर चला हूँ|

उसी प्रेरणा से मैं अपनी आवाज समाज में उठाता रहूंगा। अगर मर भी जाऊं तो कोई बात नहीं है हमारे यहां तो पुनर्जन्म होता है उनके यहां पुनर्जन्म नहीं होता है यह उनके लिए चिंता की बात है मैं तो मर के भी दोबारा जन्म ले लूंगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments