Monday, October 3, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsBaghpatजूम मीटिंग के माध्यम से प्रधानों को कोरोना को कंट्रोल के टिप्स...

जूम मीटिंग के माध्यम से प्रधानों को कोरोना को कंट्रोल के टिप्स दिए

- Advertisement -
  • डीएम ने नव निर्वाचित प्रधानों को निगरानी समिति के बताएं दायित्व, ग्राम प्रधानों को किया एक्टिव
  • जिला प्रशासन के पास है प्रत्येक नागरिक को स्वस्थ रखने के लिए है सभी संसाधन

जनवाणी संवाददाता |

बागपत: बढ़ते हुए कोरोना के संक्रमण को रोकने एवं कोरोना संक्रमित व्यक्तियों का प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज संभव कराने के उद्देश्य से डीएम ने सभी नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों के साथ जूम मीटिंग की। सबसे पहले नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों को बधाई एवं शुभकामना देते हुए कहा कि आप सभी लोगों को गांव वासियों ने सेवा करने का मौका दिया है तो इस वैश्विक महामारी में भी आप लोग गांव के प्रत्येक नागरिक का ध्यान रखें और उनकी निष्पक्षता के साथ मनोयोग से सेवा करें।

डीएम राजकमल यादव ने जूम मीटिंग के माध्यम से प्रधानों को बताया कि जनपद में कोविड- फैसिलिटी सेंटर चलाए जा रहे हैं, जिसमें मेडिसिटी अस्पताल बड़ौत, आस्था अस्पताल बड़ौत, क्रिस्टल अस्पताल बागपत व तीन सरकारी कोविड केयर सेंटर आर्यभट्ट डौला, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोविड केयर सेंटर खेकड़ा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरूरपुर इन सभी पर मरीजों को भर्ती कर उपचार किया जा रहा है।

यहां पर आॅक्सीजन युक्त के 25-25 बेड से अधिक उपलब्ध हैं। जनपद में आॅक्सीजन की व्यवस्था भरपूर मात्रा में हैं और जनपद की तीनों तहसीलों को भी आॅक्सीजन सेंटर बनाया गया है। जनपद में 20 वेंटिलेटर की व्यवस्था है और 200 आॅक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध हैं तथा 1000 रैम डीसीवर के इंजेक्शन सहित कोविड दवाई आदि भरपूर मात्रा में उपलब्ध है।

प्रधानों से कहा कि जिन ग्राम पंचायतों में अभी भी निगरानी समिति का गठन नहीं हुआ है ऐसे ग्राम प्रधान तत्काल अपनी निगरानी समिति में आशा, एएनएम, राशन डीलर, आंगनवाड़ी, ग्राम पंचायत सचिव, लेखपाल, प्रधानाध्यापक ,बीटस कांस्टेबल सदस्य होंगे और प्रतिदिन ग्राम स्तर पर निगरानी समिति की बैठक करें और निगरानी समिति के जो दायित्व व कर्तव्य हैं उनका निर्वहन करें। ग्राम पंचायत सचिव से मिलकर सैनिटाइजेशन का छिड़काव का कार्य प्रतिदिन करें।

डीएम ने बताया यदि गांव में कोई भी व्यक्ति बुखार से पीड़ित है सूखी खांसी से पीड़ित है बिना किसी भी प्रकार के टेस्ट का इंतजार किए एतिहास के तौर पर कोरोना के संक्रमण मानते हुए उस घर में ही नियमानुसार आइसोलेट करें, तथा मेडिसन कीट उपलब्ध करायी जाए। बताएं यदि किसी व्यक्ति को दो-तीन दिन से ज्यादा बुखार आता है यह सूखी खांसी नहीं जा रही है बिना कोई लापरवाही किए अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र सीएचसी पीएचसी पर ले जाएं।

बताया कि जनपद में 493 सर्विसलांस टीम, 203 आरआरटी टीम, 380 निगरानी समिति, जिसमें 244 ग्राम स्तर पर निगरानी समिति व 136 शहरी निगरानी समिति जनपद में सक्रिय कार्य कर रही हैं। स्वास्थ्य विभाग एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के द्वारा युद्ध स्तर पर कार्य करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने एवं संक्रमित व्यक्तियों को इलाज उपलब्ध कराने के उद्देश्य से निरंतर स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है।

जिला प्रशासन, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों ब्लॉक व तहसील स्तरीय के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण से सभी नागरिकों को सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से निरंतर युद्ध स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है। सभी जनपद वासियों का यह भी आह्वान किया है कि कोरोना के संक्रमण को जनपद में रोकने के उद्देश्य से सभी नागरिक अपने नित्य जीवन में कोविड-19 प्रोटोकाल का अनुपालन आवश्यक रूप से करें।


What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments