Monday, January 24, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh Newsयूपी को मिला स्वच्छता के लिए पुरस्कार

यूपी को मिला स्वच्छता के लिए पुरस्कार

- Advertisement -

जनवाणी ब्यूरो |

नई दिल्ली: स्वच्छता की रैंकिंग में लखनऊ और वाराणसी समेत यूपी के 18 शहरों को पुरस्कार मिला है। यही नहीं, यूपी की रैंकिंग में भी सुधार हुआ है और वह सातवें से छठें स्थान पर पहुंच गया है। राजधानी लखनऊ को ‘बेस्ट स्टेट कैपिटल इन सिटीजन फीड बैक’ का पुरस्कार दिया गया।

यानी लोगों की समस्याओं को सुनने और निस्तारण में लखनऊ अव्वल रहा। देश के टॉप 10 सिटी में यूपी का एक भी शहर नहीं है। लखनऊ को 12वां स्थान मिला है। वहीं, वाराणसी को एक लाख से अधिक की आबादी वाले शहरों में सबसे स्वच्छ गंगा शहर का पुरस्कार मिला।

अवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय की ओर से शनिवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में स्वच्छ अमृत महोत्सव-2021 में यह अवॉर्ड दिया गया। यूपी की रैंकिंग में सुधार के लिए प्रदेश सरकार की ओर से नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से यह पुरस्कार ग्रहण किया। महापौरों व अधिकारियों को केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप पुरी व राज्यमंत्री कौशल किशोर ने यह पुरस्कार दिया।

स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में यूपी के इन शहरों को पुरस्कार

  • स्वच्छ गंगा शहरों में कन्नौज को एक लाख की आबादी वाले शहरों की श्रेणी में पुरस्कार।
  • रठ को 10 लाख से 40 लाख तक की आबादी वाले शहरों में तेजी से बढ़ते बड़े शहर का पुरस्कार मिला। इसी
  • श्रेणी में गाजियाबाद को ‘बेस्ट बिग सिटी इनोवेशन एंड बेस्ट प्रेक्टिसेस’ पुरस्कार मिला।
  • नोएडा 3 लाख से 10 लाख तक की आबादी वाले शहरों में स्वच्छतम मध्यम शहर चुना गया।
  • हापुड़ शहर को 1 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में नागरिकों की सर्वाधिक भागीदारी का पुरस्कार मिला।
  • पटियाली (कासगंज) को एक लाख से कम आबादी वाले शहरों में नागरिकों की सर्वाधिक भागीदारी का पुरस्कार मिला।
  • हसनपुर (अमरोहा) को 50 हजार से 1 लाख की श्रेणी में तेजी से बढ़ते शहर का पुरस्कार मिला।
  • आवागढ़ शहर (एटा) को 25 हजार आबादी वाले शहरों तथा गजरौला (अमरोहा) को 50 हजार से 1 लाख की श्रेणी में ‘बेस्ट सिटी इन सिटीजन फीडबैक’ पुरस्कार।
  • मेरठ कैंट को एक लाख की आबादी वाले शहरों में सबसे स्वच्छ कैंटोनमेंट का पुरस्कार मिला।
  • एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में वाराणसी कैंट को नागरिकों के फीडबैक में सर्वश्रेष्ठ कैंटोनमेंट का पुरस्कार मिला।

कूड़ा मुक्त शहरों में लखनऊ को थ्री स्टार रेटिंग

गार्बेज फ्री सिटी में यूपी के 5 शहरों को स्टार रेटिंग पुरस्कार मिला। 10 लाख की आबादी से अधिक शहरों में लखनऊ एवं गाजियाबाद, 1 से 10 लाख की आबादी वाले शहरों में नोएडा, अलीगढ़ एवं झांसी को स्टार रेटिंग का पुरस्कार मिला। लखनऊ को थ्री स्टार व नोएडा को फाइव स्टार रेटिंग मिली। कूड़ा मुक्त शहर का सर्वेक्षण चार श्रेणियों वन स्टार, थ्री स्टार, फाइव स्टार और सेवन स्टार में होता है।

इस आधार पर मिली रैंकिंग

  • 62 कैंटोनमेंट जोन के साथ 4,320 शहरों में हुआ सर्वेक्षण
  • विशेष तौर पर तैयार किए गए एप व पोर्टल के सहारे हुई डिजिटल रायशुमारी
  • 6,000 अंकों के आधार पर मापी गई शहरों की स्वच्छता

सीएम ने स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में पुरस्कार मिलने पर जनता को दी बधाई दी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वच्छ सर्वेक्षण-2021 में यूपी के 18 शहरों को प्रतिष्ठित पुरस्कारों से सम्मानित किए जाने पर प्रदेश की जनता को बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संचालित स्वच्छता अभियान के फलस्वरूप साफ-सफाई के संबंध में यूपी सहित देश में व्यापक स्तर पर जनजागरूकता सृजित हुई है।

स्वच्छता संबंधी जागरूकता ने वैश्विक महामारी कोविड-19 को नियंत्रित करने में प्रमुख भूमिका निभाई है। प्रदेश सरकार स्वच्छ भारत मिशन का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करा रही है।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments