Saturday, May 21, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -spot_img
Homeसंवादसप्तरंगजो हो चुका, उसके बारे में सोचना व्यर्थ है-अलाया एफ

जो हो चुका, उसके बारे में सोचना व्यर्थ है-अलाया एफ

- Advertisement -

 


एक्ट्रेस पूजा बेदी की बेटी अलाया एफ ने ‘जवानी जानेमन’ के साथ बॉलीवुड में बतौर एक्ट्रेस डेब्यू किया लेकिन उनकी बदकिस्मती रही कि जैसे ही उनकी पहली फिल्म रिलीज हुई, कोरोना ने दस्तक दे दी और बहुत जल्दी इसने एक महामारी का रूप ले लिया। अपनी पहली फिल्म से अलाया ने जो संभावनाएं पैदा की थीं, उसके बाद कई ऐसे लोग थे जो उनके साथ अपनी फिल्में शुरू करने की योजना बनाने लगे थे, लेकिन अचानक देश के सभी सिनेमाघर बंद हो गए। फिल्मों का निर्माण रुक गया और इस तरह कोरोना की वजह से अलाया का कैरियर सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ। स्वाभाविक था कि एक ऐसी एक्ट्रेस जो अपना कैरियर शुरू करने जा रही हो, उसके लिए यह परिस्थितियां बेहद कष्टकारी और परेशान कर देने वाली थीं, लेकिन दिल ही दिल में अलाया एफ गॉड से प्रे करती रहीं कि जल्दी ही सब कुछ समान्य हो जाए, ताकि वह आगे काम करना शुरू कर सकें और इन दिनों अलाया फिर से अपने काम में बिजी हो चुकी हैं। हाल ही में अलाया एफ ने अपना 24 वां जन्म दिन मनाया।

प्रस्तुत है उनके साथ की गई बातचीत के मुख्य अंश:

नया साल हर किसी के जीवन में नये सपने और नया उत्साह लेकर आता है।

इस नये साल में आप क्या उम्मीद करती हैं ?

मुझे लगता है कि यह साल मुझे और आगे लेकर जाएगा। इस नए साल में मुझे बहुत उम्मीदें हैं। इस इंडस्ट्री में मेरा सफर रोलर कोस्टर राइड जैसा रहा है क्योंकि जैसे ही मैने अपने कैरियर शुरू किया, उसके फौरन बाद सारी दुनिया में लॉक डाउन लग गया और परिस्थितियां असामान्य हो गर्इं। उम्मीद करती हूं कि इस नए साल में सारी दुनिया में सब कुछ सामान्य हो जाएगा।

लॉकडाउन ने आपके कैरियर को कितना प्रभावित किया?

जो हो चुका, उसे वापस नहीं लाया जा सकता, इसलिए उसके बारे में सोचना भी व्यर्थ ही है। इंसान बस अपने नये जोश के साथ अपना भविष्य संवारने की दिशा में बेहतर कदम बढ़ा सकता है, सो मैं भी यही सब कर रही हूं।

क्या आपने शुरू से ही अपनी मम्मी की तरह एक्ट्रेस बनने के बारे में सोच रखा था या फिर यह सब कुछ अकस्मात हुआ?

शुरू से घर में फिल्मी माहौल तो था ही। उसी माहौल में मैं पली बढ़ी, इसलिए स्वाभाविक था कि मन के किसी कोने में एक्ट्रेस बनने की इच्छा दबी हुई थी। जब बड़ी हुई तब मुझे लगने लगा कि यही वो चीज है जिसे करके मैं भरपूर आनंद ले सकती हूं और उसके बाद एक एक्ट्रेस बनने के लिए मेरी कोशिशें शुरू हो गई ।

व्यक्तिगत तौर पर आपको किस तरह के किरदार निभाना अधिक पसंद हैं?

जो मुझे पसंद है, मैं सिर्फ वही करना चाहती हूं लेकिन एक एक्ट्रेस के लिए यह मुमकिन नहीं है। उसे हर तरह के किरदार निभाने पड़ते हैं। अपनी पसंद का काम करने के पहले मुझे यह साबित करना होगा कि मैं क्या हूं और मेरी रेंज क्या है। इसके लिए मुझे बहुत काम करना होगा। वैसे मुझे व्यक्तिगत तौर पर हल्की फुल्की लव स्टोरीज जिनमें इमोशन भी हो, पसंद हैं।

आम तौर पर देखा गया है कि जब कोई स्टार किड अपना कैरियर शुरू करता है, उसकी तुलना उसके माता-पिता के साथ शुरू हो जाती है लेकिन आपके साथ ऐसा नहीं हुआ?

इसके लिए मैं खुद को भाग्यशाली मानती हूं, क्योंकि यदि ऐसा होता तो शायद मेरी राह और मुश्किल हो जाती। वैसे मुझे लगता है कि मैं अपनी मम्मी से अलग तरह की एक्ट्रेस हूं।

लेकिन आपकी मम्मी और आप में एक समानता तो है कि आप भी उनकी तरह बेहद ग्लैमरस और हॉट हैं। जिस तरह से सोशल मीडिया पर आप अपने हॉट पोज शेयर करती रहती हैं, उसके कारण आप सनसनी बनी हुई हैं?

यह आज की पीढ़ी का शौक है। मुझ जैसे बच्चों को लगता है कि यदि वो अच्छे दिखते हैं तो उन्हें लोगों को बताना चाहिए कि वे कितने अच्छे दिख सकते हैं लेकिन मैं सनसनी बनकर नहीं बल्कि एक्टिंग की बदौलत नाम कमाना चाहती हूं।

अपनी डेब्यू फिल्म ‘जवानी जानेमन‘ के बाद अपने फयूचर को किस तरह देखती हैं?

मेरी पहली फिल्म बॉक्स आॅफिस के लिहाज से भले ही ज्यादा अच्छी साबित नहीं हुई लेकिन मुझे खुशी है कि मेरे काम की सराहना हुई। उसके बाद मुझे काफी अच्छे अच्छे आफर्स मिल रहे हैं। मैने कुछ ठोस किरदार वाली फिल्में एक्सेप्ट भी की हैं। मेरी कोशिश है कि जिस तरह के सिनेमा को आजकी आॅडियंस पसंद करती है, उसी तरह की फिल्में करूं और मुझे लगता है कि मेरा फ्यूचर बहुत ब्राइट रहेगा।

बाला साहेब ठाकरे के पोते ऐश्वर्य ठाकरे के साथ आपके अफेयर की चर्चा होती रही है। इन खबरों में कितनी सच्चाई है?

हम दोनों अच्छे दोस्त हैं और हमारी इस दोस्ती को हर किसी ने अपने अपने तरीके से डिफाइन करने की कोशिश की है लेकिन इससे हमें और हमारी दोस्ती को कुछ फर्क नहीं पड़ता।

कहा जा रहा है कि ऐश्वर्य ठाकरे की मां स्मिता ठाकरे, जो एक फिल्म प्रोडयूसर भी हैं, आपको काफी पसंद करती हैं और मन ही मन बहू के रूप में आपको स्वीकार भी कर चुकी हैं?

ऐश्वर्य और स्मिता आंटी मेरी बर्थडे पर, आयोजित पार्टी में आये थे। तभी से इस तरह की बातें होने लगी हैं। स्मिता आंटी और मेरी मम्मी की जान पहचान काफी पुुरानी है और वो दोनों अक्सर एक दूसरे से मिलते रहे हैें लेकिन पता नहीं इस तरह की बातें करके लोगों को क्या मिलता है।

एसएस


What’s your Reaction?
+1
0
+1
4
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments