Sunday, July 21, 2024
- Advertisement -
HomeUttar Pradesh NewsMeerutएटीएस और इंटेलीजेंस की टीमों ने किया मकान का निरीक्षण

एटीएस और इंटेलीजेंस की टीमों ने किया मकान का निरीक्षण

- Advertisement -
  • एसटीएफ और एलआईयू भी पहुंची और मौका मुआयना किया

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: समर गार्डन के 60 फुटा रोड पर विस्फोट से जमींदोज हुए मकान को लेकर मंगलवार को दिन भर जांच एजेंसियों का आना जाना लगा रहा। एटीएस और एसटीएफ के अलावा इंटेलीजेंस की टीमें नमूने एकत्र करती रही। वहीं गाजियाबाद के निवाड़ी से फोरेंसिक की टीम ने दीवारों को देखा और विस्फोटक के सबूत एकत्र किये।

जांच एजेंसियों को प्रारंभिक तौर पर पता लगा है कि मुस्मुतकीम का परिवार पटाखे बनाकर आसपास के जनपदों में सप्लाई कर रहा था। मुस्तकीम के भाई यूनुस के धर्मकांटे से विस्फोटक के साथ पांच बोरे मुर्गा छाप कंपनी के पटाखों के रैपर भी बरामद किए हैं। जांच टीम ने मिले बारुद की भी जांच की और उसके नमूने जांच के लिये ले गई। गाजियाबाद के निवाड़ी से फोरेंसिक टीम ने भी मौके पर पहुंचकर दीवार और धराशायी हुए लेंटर से विस्फोटक के नमूने लिए हैं।

देखा जा रहा है कि इंतजार के घर पर कौन सा विस्टफोटक रखा गया था। एसटीएफ और एटीएस ने विस्फोट के पीछे किसी भी तरह की संभावनाओं को तलाशा। जांच में सामने आया कि मुस्तकीम और उसके तीन भाई गंधक और पोटाश से पटाखे बनाने का काम करते हैं। हापुड़, शामली, बागपत, गाजियाबाद के लोनी, बुलंदशहर के अलावा मेरठ में भी पटाखों की सप्लाई देते थे।

005

शादी समारोह में आतिशबाजी करने वालों को भी पटाखों की सप्लाई दी जाती थी। पुलिस से जुड़ी टीमें तो जांच करने के लिये आ गई, लेकिन कारखाना विभाग, दमकल विभाग आदि विभागों ने जांच के लिये मौके पर जाना जरुरी नहीं समझा। सीओ कोतवाली अरविन्द चौरसिया ने बताया कि पुलिस ने 22 मकानों की सूची एमडीए को भेज दी है जिनमें दरारें आई है।

पकड़े गए आरोपियों से की जा रही पूछताछ

समर गार्डन में यूनुस के धर्मकांटे से मिले 30 बोरे बारूद को बरामद करने के लिये तीन थानों की पुलिस तीन फायर टैंकरों को लेकर गई थी। पुलिस ने बरामद बारूद को पानी डालकर नष्ट कर दिया था। धर्मकांटे से आरोपी फरार हो गया था, लेकिन पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

फोरेंसिक टीम द्वारा विस्फोटक की पुष्टि करने के बाद पुलिस की जांच इसी एंगल पर आ गई थी। सुबह के वक्त पुलिस को सूचना मिली कि मुस्तकीम के भाई यूनुस के धर्मकांटे में बारूद का अवैध जखीरा रखा हुआ है। सीओ कोतवाली अरविन्द चौरसिया तीन थानों की फोर्स और तीन फायर टैंकर लेकर धर्मकांटे पर गए। पुलिस फोर्स को देखकर आसपास में हड़कंप मच गया और देखते-देखते काफी संख्या में लोग एकत्र हो गए।

13 28

पुलिस जब धर्मकांटे के अंदर घुसी और तहखाने की तरफ देखा तो हैरत में पड़ गई। अंदर बोरों का ढेर लगा हुआ था। पुलिस ने एक बोरा खुलवा कर देखा तो उसमें पोटाश और गंधक की गंध नाक में घुसी तो लोग अलर्ट हो गए। पुलिसकर्मियों ने ट्रॉली मंगवाई और उसमें 30 बोरे में रखवाये गए। इसके बाद फायर टैंकरों से उन पर पानी की बौछार करवा दी गई।

थोड़ी देर में सारा बारूद जलमग्न हो गया। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि बारुद को निष्क्रिय किया गया है और सीजेएम के आदेश के बाद इसे नष्ट कर दिया जाएगा। मौके से धर्मकांटे का मालिक यूनुस नहीं मिला, लेकिन एक आरोपी को पूछताछ के लिये लाया गया है।

एक साल से चल रहा था पटाखों का गोरखधंधा

पुलिस ने जब धर्मकांटे से बारूद बरामद होने के बाद पूछताछ की तो पता चला कि एक साल से बारूद लाने का काम बखूबी चल रहा था। मुस्तकीम और इंतजार आपस में दोस्त हैं और पटाखे बनाने के काम में मुस्तकीम माहिर है। बताया जाता है कि इसके खिलाफ मुकदमे भी दर्ज हैं।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Recent Comments