Tuesday, October 19, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutसरधना के लिए अभिशाप बना कूड़ा

सरधना के लिए अभिशाप बना कूड़ा

- Advertisement -
  • करीब एक करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया जा रहा कूड़ा निस्तारण प्लांट
  • फरवरी तक बनकर तैयार हो जाएगा प्लांट, कूड़े से निकलने वाली सामग्री बेचेगी पालिका

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ/सरधना: जो कूड़ा दशकों से सरधना के लिए अभिशाप बना हुआ है। वहीं, कूड़ा अब पालिका की जेब भरने का काम करेगा। कूड़े से बनने वाला पैसा ही नगर के विकास में इस्तेमाल होगा। इसके लिए नगर पालिका द्वारा कूड़ा निस्तारण प्लांट तैयार कराया जा रहा है।

करीब एक करोड़ रुपये से अधिक लागत में बने रहा यह प्लांट फरवरी माह तक बनकर तैयार हो जाएगा। जिसमें नगर का कूड़े का निस्तारण किया जाएगा। कूड़ से निकलने वाली उपयोगी वस्तुओं को पालिका बेचकर अपनी जेब भरेगी। इसी पैसे से न केवल नगर को स्वच्छ बनाने का काम किया जाएगा।

बल्कि अन्य विकास कार्यों में भी इस्तेमाल होगा। फिलहाल झिटकरी रोड पर बन रहे इस प्लांट को तैयार करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है। यानी जल्द नगर के लोगों चारों ओर फैले कूड़े से निजात मिलने वाली और पालिका का सिरदर्द भी खत्म होने वाला है।

सरधना में कूड़ा निस्तारण की समस्या बहुत पुरानी है। डंपिंग ग्राउंड नहीं होने के कारण पालिका के सफाई कर्मचारी नगर के मुख्य मार्गों के किनारे ही कूड़ा डालकर आ जाते हैं। सरधना में आने वाले सभी रास्तों पर कूड़े के ढेर देखे जा सकते हैं।

कुछ समय पहले तहसील के निकट रोडवेज बस अड्डे के लिए भूमि चिंहित की गई थी। यहां भी बस अड्डा तो नहीं बना, पालिका ने कूड़े के पहाड़ जरूर खड़े कर दिए। उन्हें नष्ट करने के लिए आग भी लगाई जाती रही है। जिसके चलते नगर से निकलने वाला कूड़ा नगर और पालिका दोनों के लिए अभिशाप बना हुआ है।

इस समस्या से निजात पाने के लिए कूड़ा निस्तारण का बड़ा प्लांट बनाया जा रहा है। झिटकरी रोड पर करीब पांच हजार वर्ग मीटर भूमित पर यह प्लांट लगाया जा रहा है। एक करोड़ रुपये से अधिक की लागत में प्लांट बनकर तैयार होगा।

जिसमें कूड़े से उपयोगी वस्तु निकाल कर बेचने का काम किया जाएगा। यानी नगर को कूड़े से भी निजात मिलेगी और पालिका की जेब भी भरेगी। बताया जा रहा है कि फरवरी माह तक यह प्लांट बनकर तैयार हो जाएगा। जिसके बाद कूड़े की समस्या खत्म होना तय है। उम्मीद है कि यह प्लांट समय से बनकर तैयार होगा और सरधना को कूड़े की समस्या से निजात दिलाएगा।

ऐसे होगा प्लांट में काम

करीब पांच हजार वर्ग मीटर में बनाए जा रहे प्लांट में दो प्रोजेक्ट बनेंगे। एक एमआरएफ यानी मेटेरियल रिकवरी फेसेलिटी और दूसरा सेगरीकेश्ना मशीन। सेगरीकेशन मशीन में कूड़े से अनोपयोगी वस्तु छानकर अलग की जाएगी। इसके बाद कूड़े को एमआरएफ में भेजा जाएगा।

जहां उपयोगी वस्तु जैसे लोहा, टीन, प्लास्टिक, कांच, सब्ज-फल, भोजन आदि को अलग-अलग किया जाएगा। भोजन, फल-सब्जी जैसी चीजों से तो खाद तैया की जाएगी। जबकि अन्य उपयोगी वस्तुओं को बेचने का काम किया जाएगा। जिससे वर्षभर में पालिका की आय लाखों में बढ़ेगी। यानी कूड़ा भी खत्म और जब भी गर्म।

फरवरी तक बनकर तैयार होगा प्लांट

पालिका द्वारा छोड़े गए कूड़ा निस्तारण प्लांट के टेंडर का समय फरवरी माह तक है। यानी अब से दो महीने बाद यह प्लांट बनकर तैयार हो जाएगा। फिलहाल इस प्लांट में युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है। उम्मीद है कि यह प्लांट समय पर बनकर तैयार होगा। प्लांट की चार दीवारी में करीब 23 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। इसके अलावा एमआरएफ प्लांट 33 लाख और सेगरीकेशन मशीन का प्रोजेक्ट करीब 55 लाख रुपये का है। यानी कूड़ा निस्तारण प्लांट करीब एक करोड़ रुपये से अधिक की लागत में बनेगा।

पुरानी है कूड़े की समस्या

नगर में कूड़ा निस्तारण की समस्या पुरानी है। डंपिंग ग्राउंड नहीं होने के कारण पालिका सफाई कर्मचारी कूड़ा इधर-उधर ही डालते हैं। नगर के मुख्य मार्गों पर स्वागत द्वार तो नहीं लगे हैं। मगर सभी रास्तों पर कूड़े के ढेर जरूर लगे हैं। गंदगी से ही नगर में आने वाले लोगों का स्वागत होता है।

कूड़े में आग लगना उससे बड़ी समस्या

तहसील परिसर के निकट पालिका द्वारा रोडवेज बस अड्डे के लिए भूमि निर्धारित की गई थी। यहां बस अड्डो तो नहीं बना। मगर इसे डंपिंग ग्राउंड बनाकर रख दिया है। इतना तो कुछ भी नहीं है। कूड़ा नष्ट करने के लिए उसमें आग भी लगाई जाती है। कूड़े से उठता धुआं लोगों के जीवन में जहर घोल रहा है। लोगों का सांस लेकर मुश्किल रहता है।

झिटकरी रोड पर कूड़ा निस्तारण प्लांट बनवाया जा रहा है। उम्मीद है कि फरवरी माह तक यह प्लांट बनकर तैयार हो जाएगा। प्लांट में पूरे सरधना के कूड़े का निस्तारण होगा। कूड़े से निकलने वाली उपयोगी वस्तुओं को बेचने का काम किया जाएगा। जिससे कूड़े का निस्तारण भी होगा और पालिका की आय भी बढ़ेगी।
                                                         -सबीला अंसारी, अध्यक्ष नगर पालिका परिषद सरधना

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments