Monday, December 6, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsBaghpatकिसानों की समस्या व मंत्री को बर्खाश्त की मांग को भाकियू का...

किसानों की समस्या व मंत्री को बर्खाश्त की मांग को भाकियू का प्रदर्शन

- Advertisement -
  • कृषि कानून रद्द कराने, चीनी मिल चलवाने, आवारा पशुओं को पकड़ने, ओलावृष्टि से नष्ट फसल का मुआवजे की मांग

जनवाणी संवाददाता |

बागपत: भाकियू व भारतीय किसान संगठन ने मंगलवार को कलक्ट्रेट में पहुंचकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। उन्होंने किसानों की समस्या कृषि कानून रद्द कराने, चीनी मिल चलवाने, आवारा पशुओं को पकड़ने, मंत्री को बर्खाश्त करने, ओलावृष्टि से नष्ट फसल का मुआवजा दिलाने की मांग को ज्ञापन एडीएम को सौंपा। साथ ही मांगे पूरी न होने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी।

कलक्ट्रेट पर भाकियू व भारतीय किसान संगठन के नेताओं ने नारेबाजी कर धरना प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि कृषि कानून को लेकर किसान धरने पर बैठे हुए है, लेकिन केन्द्र सरकार द्वारा कोई ध्यान तक नहीं दिया जा रहा है। इससे किसानों में भाजपा सरकार के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है, जिसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा।

उन्होंने काले तीन कृषि कानून को रद्द कराने, एमएसपी पर कानूनी गारंटी देने, लखीमपुर खीरी में केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा को बर्खाश्त करने, उसके बेटे पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने, ओलावृष्टि से नष्ट हुई फसल का मुआवजा दिलाने, आवारा पश्ुाओं को पकड़कर गोशाला में छोड़ने, एक नवंबर से चीनी मिल चलवाने, किसानों का बकाया गन्ना भुगतान करने आदि मांगों का ज्ञापन एडीएम अमित कुमार सिंह को सौंपा।

साथ ही मांगे पूरी न होने पर आंदोलन करने की चेतावनी दी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष प्रताप गुर्जर, उपेन्द्र तोमर, हरेन्द्र दांगी, रोहित चौधरी, उपेन्द्र, बिल्लू कुमार, विजयपाल, धर्मदत्त शर्मा, तेजपाल सिंह, हिम्मत सिंह, बिजेन्द्र प्रधान, पिंटू चौधरी, कृष्णपाल सिंह, योगेन्द्र, राममेहर मलिक, राकेश गुर्जर, महिपाल सिंह, शीशपाल यादव, सोनू, राजेन्द्र सिंह, अंकित यादव, कृष्ण यादव आदि मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments