Wednesday, May 25, 2022
- Advertisement -
- Advertisement -spot_img
HomeUttar Pradesh NewsMuzaffarnagarगौशाला में गहराया चारा संकट, डीएम ने मांगा दान

गौशाला में गहराया चारा संकट, डीएम ने मांगा दान

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता  |

मुजफ्फरनगर: जनपद में बेसहारा गौवंशीय पशुओं के रखरखाव के लिए शासन की योजना पर चलाये जा रहे पशु आश्रय स्थल और कान्हा गौशालाओं में अब चारा दान करने के लिए जिला प्रशासन ने समाज से आगे आने की अपील की है। इसके लिए दानवीरों को सम्मानित करने की योजना भी है।

क्या कहते है आपके सितारे साप्ताहिक राशिफल 08 मई से 14 मई 2022 तक || JANWANI

 

पशु आश्रय स्थलों पर चारा का संकट टालने के लिए प्रशासन ने बड़ी पहल करते हुए लोगों से सहयोग मांगा है। इसके साथ ही पशु आश्रय स्थलों में 10 कुंटल चारा या 11 हजार रुपये का दान करने वाले लोगों को डीएम ने सम्मानित करने के साथ ही गौशालाओं में अपने प्रयासों से सर्वाधिक दान कराने वाली ग्राम पंचायत और उसके प्रधान को भी भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करने का ऐलान डीएम द्वारा किया गया है।

जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह के द्वारा जनपद में बेसहारा पशु आश्रय स्थलों में पशुओं के चारे के लिए बने संकट को दूर करने के लिए लोगों से दान की अपील की है। इसके लिए जारी पत्र में डीएम चन्द्रभूषण सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा वर्तमान सरकार की शीर्ष प्राथमिकता वाली ”निराश्रित गोवंश सरंक्षण योजनान्तर्गत” जनपद मुजफ्फरनगर में 4906 निराश्रित गोवंश जनपद में संचालित विभिन्न गोवंश आश्रय स्थलों पर वर्तमान में संरक्षित किए गए हैं, जिनका भरण-पोषण उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा दी जा रही आर्थिक सहायता के अन्तर्गत किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार वर्तमान में भूसे के उत्पादन को दृष्टिगत रखते हुए अपेक्षा की गई है कि जनता को निराश्रित गोवंश के प्रति जागरूक करते हुए लोगों से दान में भूसा आदि पशु चारा देने हेतु अनुरोध किया जाये।

इसी के दृष्टिगत जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह के द्वारा समस्त जनपदवासियों से अपील की गई है कि संरक्षित किए जा रहे। निराश्रित गोवंश के भरण-पोषण में सहयोग करते हुए अधिक से अधिक मात्रा में भूसा, हरा-चारा, चौकर, खल, आदि अपने निकटतम खंड विकास अधिकारी/गोवंश आश्रय स्थल पर संपर्क कर दान में देने का कष्ट करें तथा गोवंश की सेवा कर पुण्य लाभ उठाएं।

ऐसे में जिलाधिकारी चन्द्रभूषण सिंह के द्वारा जनपद के ऐसे सम्मानित/प्रतिष्ठित/पशु प्रेमी/गोवंश में आस्था रखने वाले नागरिकों से अपील की गई है कि यदि आपके पास गोवंश को दान में देने के लिए भूसा, हरा चारा आदि की उपलब्धता नहीं है तो आप नगद धनराशि के रूप में भी दान कर सकते हैं। यह दान आप अपने निकटतम खंड विकास अधिकारी अथवा उप मुख्य/पशु चिकित्सा अधिकारी को देकर रसीद प्राप्त कर सकते हैं।

जिलाधिकारी ने इस अपील के साथ यह घोषणा भी की है कि जो सक्षम व्यक्ति या गौ प्रेमी न्यूनतम 10 कुंटल भूसा अथवा दान में 11000 रुपये की नगद धनराशि दान करेंगे, उन्हें प्रशासन द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

डीएम चन्द्रभूषण सिंह ने बताया कि आयुक्त सहारनपुर मंडल के द्वारा भी सरकार की इस योजना के लिए निर्देशित किया गया है कि प्रत्येक ग्राम प्रधान एवं पंचायत सचिव के माध्यम से प्रति ग्राम पंचायत न्यूनतम 10 कुंटल भूसा दान स्वरूप ग्राम के सक्षम किसानों के सहयोग से प्राप्त कर निकटतम गोआश्रय स्थल पर संग्रहित करवाएं तथा जो ग्राम पंचायत अधिकतम भूसा संरक्षण कराने में सहयोग करें|

उस ग्राम पंचायत को प्रोत्साहित करने के साथ ही वहां के ग्राम प्रधान और ग्राम सचिव को प्रशासनिक स्तर पर सम्मानित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि यदि कोई व्यक्ति पुशओं के लिए आनलाइन दान देना चाहते हैं या अपना नाम गोपनीय रखना चाहते हैं तो ऐसे व्यक्ति जनपद स्तर पर संचालित किये जा रहे बैंक खाते में भी सीधे धनराशि हस्तांतरित करने के साथ ही बैंक के माध्यम से जमा कर सकते हैं।

इसके लिए एक्सिस बैंक लिमिटेड रुड़की रोड, मुजफ्फरनगर में जनपद स्तरीय गोसंरक्षण समिति, मुजफ्फरनगर के खाता संख्या-919010056122598 और आईएफएससी कोड-0004041 के तहत ऑनलाइन दान किया जा सकता है। डीएम ने कहा कि आपके द्वारा दान की गई सामग्री एवं धनराशि का उपयोग केवल निराश्रित गोवंश के भरण-पोषण के लिए किया जाएगा।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -
spot_img
- Advertisment -
- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -
- Advertisment -spot_img
- Advertisment -

Recent Comments