Wednesday, December 1, 2021
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUttar Pradesh NewsMeerutमुआवजे पर ‘रार’: आंदोलित किसानों का आवास विकास पर हंगामा

मुआवजे पर ‘रार’: आंदोलित किसानों का आवास विकास पर हंगामा

- Advertisement -

जनवाणी संवाददाता |

मेरठ: मुआवजे को लेकर ‘रार’ थम नहीं रही है। किसान बढ़ा हुआ मुआवजा मांग रहे हैं, मगर आवास विकास परिषद के अधिकारी इस पर सहमत नहीं हो रहे हैं, जिसके चलते किसानों ने जमीन पर कब्जा नहीं दिया है। सोमवार को फिर किसानों ने आवास विकास के शास्त्रीनगर आफिस पर हल्ला बोल दिया। किसानों ने दो टूक कह दिया कि बढ़ा हुआ मुआवजा नहीं तो जमीन पर कब्जा भी नहीं देंगे। किसानों के कड़े तेवरों के बाद कई महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट भी आवास विकास पर लटक गए हैं।

काजीपुर, सरायकाजी, मेरठ शहर के किसानों की जमीन का आवास विकास परिषद ने अधिग्रहण कर रखा है, लेकिन अब किसान बढ़ा हुआ प्रतिकर मांग रहे हैं। किसानों की यह मांग लंबे समय से चल रही हैं, लेकिन सरकार गंभीरता से नहीं ले रही हैं, जिसके चलते किसान आंदोलित है। सोमवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस सेवादल के प्रदेश सचिव व पीसीसी सदस्य रोहित गुर्जर के नेतृत्व में विकसित भूखण्ड व प्रतिकर बढ़ा कर दिए जाने की मांग को लेकर किसानों ने आवास विकास परिषद के शास्त्रीनगर कार्यालय पहुंचे।

किसानों ने यहां हंगामा खड़ा कर दिया। किसानों के हंगामे के बाद आवास विकास परिषद के आॅफिस में अफरातफरी मच गई, तभी किसानों को अधिशासी अभियंता खंड आठ एमबी कौशिक ने बुलाया तथा किसान नेताओं से बातचीत की। रोहित गुर्जर ने इस दौरान कहा कि 10 सालों से किसानों की परिषद से 660 रुपये प्रतिकर मुआवजा बढ़ा कर दिया जाए।

वार्ता कर लौट रोहित गुर्जर ने पत्रकारों को बताया कि अधिशासी अभियंता खंड आठ से उनकी वार्ता हुई है, जिनसे किसानों के कुछ प्रमुख मुद्दे जैसे बढ़े हुए मुआवजे व छह प्रतिशत विकसित भूखंड दिए जाने के साथ साथ जब किसानों ने अपनी जमीन परिषद को 100 के स्टाम पर दी है तो परिषद भी सीधे किसानों को 100 के स्टाम पर रजिस्टर्ड एग्रीमेंट द्वारा प्लाट दे।

जिस किसी भी किसान को रजिस्ट्री करवानी हो तो वह किसानों से समझौते के समय रहे सर्किल दर पर रजिस्ट्री का प्रावधान रखा जाए व किसानों ने प्लॉट के फार्म नहीं भरे उन्हें भी प्लाट दिए जाएं। इसमें विलंब नहीं होना चाहिए। जिस पर अधिशासी अभियंता ने सभी किसानों के मुद्दे नोट कर कमिश्नर के समक्ष रखने का आश्वासन दिया और किसानों की भी वार्ता अपने उच्च अधिकारियों से चर्चा कर कमिश्नर से कराने को कहा।

रोहित ने बताया कि कमिश्नर से मीटिंग रखने से पहले सभी मुद्दों पर चर्चा करने के लिए अब किसानों की ओर एससी ने पुन: 21 दिसंबर को दोपहर 12 बजे वार्ता रखी है। प्रदर्शन करने पहुंचे किसानों में श्रीपाल भड़ाना, बिल्लू, तुलसीदास, राहुल, बल्ले राम, मोहित, एसके शाहरुख, नौशाद सैफी, सुमित, अनिल कुमार आदि किसान मौजूद रहे।

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
- Advertisement -

Leave a Reply

- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

Most Popular

- Advertisment -spot_img

Recent Comments